उत्तराखण्डकुमाऊं,

उत्तराखंड- यहाँ सौतेली माँ ने 8 साल की मासूम को दी ऐसी यातनाएं, सुनकर खड़े हो जाएंगे रोंगटे, बताई कत्ल की वजह

  • सौतेली मां ने मासूम की हत्या कर शव निर्माणाधीन मकान के नीचे दबाया
  • काशीपुर का मामला, पुलिस ने खुदाई करके शव निकाल पोस्टमार्टम के लिए भेजा
  • पुलिस आरोपित सौतेली मां को हिरासत में लेकर कर रही है पूछताछ गिरफ्तार

उधम सिंह नगर जिले के काशीपुर में आठ वर्षीय बेटी की बर्बरता पूर्वक पिटाई करने और गला घोंटकर हत्या करके शव को घर से सामने एक खाली मकान के कमरे में गड्ढे खोदकर दबाने की आरोपी सौतेली मां लक्ष्मी देवी को पुलिस ने गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया जहां से आरोपी को जेल भेज दिया है।

खड़कपुर देवीपुरा निवासी मोनू कुमार पुत्र स्व. भूकन सिंह की आठ वर्षीय बेटी सोनी हत्याकांड का आईटीआई थाना परिसर में सीओ अनुषा बडोला ने खुलासा किया। बताया मोनू कुमार ने 18 अप्रैल 2024 को तहरीर दी थी, जिसमें कहा कि उसकी बेटी सोनी 17 अप्रैल 2024 को दोपहर डेढ़ बजे दुकान में सामान लेने गई थी, जो लौटी नहीं। तब पुलिस ने बच्ची की गुमशुदगी दर्ज कर जांच एएसआई पुष्कर भट्ट को सौंपी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहाँ शादी का झांसा देकर दिव्यांग युवती से युवक ने किया दुष्कर्म, दी बदनाम करने की धमकी, आरोपी युवक गिरफ्तार

टीम ने जांच के दौरान आसपास के लोगों से पूछताछ की और सीसीटीवी खंगाले। तब 17 अप्रैल 2024 को सोनी की सौतेली मां लक्ष्मी देवी उसे अपने घर के सामने निर्माणाधीन मकान में ले जाते हुई दिखाई दी। पुलिस ने 18 अप्रैल 2024 की शाम उक्त मकान के एक कमरे में बने गड्ढे से मिट्टी हटाई तो उसमें हाथ-पैर बांधकर बोरे में बंद करके दबा शव मिला।

पुलिस ने आरोपी सौतेली मां लक्ष्मी देवी पत्नी मोनू कुमार को गिरफ्तार कर बच्ची की गुमशुदगी के दर्ज मुकदमे को हत्या की धारा 302/201 आईपीसी में तरमीम कर लिया। साथ ही आरोपी महिला को न्यायालय के समक्ष पेश कर उसे जेल भेज दिया।

सीओ अनुषा बडोला के अनुसार पूछताछ में आरोपी लक्ष्मी देवी ने बताया उसका पति मोनू कुमार और सास संतोष देवी सोनी को ज्यादा लाड़-प्यार करते थे। जिसे लेकर अक्सर घर में झगड़ा होता रहता था। इसी बात को लेकर वह सोनी से द्वेष भावना रखती थी। बताया उसने मौका पाकर उसकी हत्या कर दी और शव को घर के सामने खाली मकान में छिपा दिया। साथ ही पति को उसके गुम होने की फोन करके जानकारी दी।

यह भी पढ़ें 👉  प्रेस क्लब अध्यक्ष की पुत्री आयुषी भट्ट 95 % अंक प्राप्त कर पाई प्रदेश में आठवी और जिले में दूसरी रैंक

आईटीआई थाना प्रभारी प्रवीण कोश्यारी ने बताया आरोपी लक्ष्मी देवी ने अपने पति से सोनी के गुम होने की बात कही थी। पिता मोनू कुमार की तहरीर पर पुलिस ने गुमशुदगी भी दर्ज कर ली थी। यदि घर के आसपास सीसीटीवी नहीं लगे होते तो कुछ समय तक यह घटना राज ही बनी रहती। जांच में पुलिस टीम ने जब घर के पास लगे सीसीटीवी खंगाले, तब लक्ष्मी देवी 17 अप्रैल की दोपहर को सोनी को घर के सामने वाले मकान में ले जाती नजर आई। जिसके बाद शक गहरा गया और पुलिस घटनाक्रम के तह तक पहुंच गई और आरोपी महिला को हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- इस बार भी भीषण गर्मी करेगी परेशान, पढ़ें पूरी खबर....

आईटीआई थाना के हवालात में बंद मृतक सोनी की सौतेली मां अब पछतावे के आंसू बहा रही है। आरोपी लक्ष्मी देवी ने बताया वह सोनी को पसंद नहीं करती थी, क्योंकि उसका पति मोनू और सास दोनों उसको चाहते थे। जिसके चलते वह उससे बैर रखती थी और मौका पाकर गुस्से में आकर यह कदम उठाया। अब उसे अपनी करनी पर पछतावा हो रहा है।

सोनी के पिता मोनू कुमार ने बताया कि पहली पत्नी से पैदा बेटी तनु (6) दलपतपुर जिला मुरादाबाद निवासी अपनी बुआ के पास रहती है और वहीं पढ़ाई कर रही है। वहीं लक्ष्मी देवी से पैदा बच्चे देव (2) और देविका (3) को वह खुद पाल लेगा। कहा अब तीनों बच्चे मैं और मेरी मां पाल लेंगे। क्योंकि दूसरी शादी करके इतना बड़ा धोखा खा लिया, जिससे अब कुछ सोचने में भी डर लगने लगा है। किस पर विश्वास करें अब तो सबसे भरोसा उठ गया है।