उत्तराखण्डकुमाऊं,

हल्द्वानी- प्रमाण पत्रों को निस्तारण करने के पटवारियों को 24 घंटे का अल्टीमेट

सेवा के अधिकार से सम्बन्धित प्रमाण पत्रों को समयान्तर्गत जारी न किये जाने के सम्बन्ध में।

 

 

उपरोक्त विषयक संज्ञान में लाना है कि आपके द्वारा बतौर पदाभिहित अधिकारी, सेवा का अधिकार अधिनियम से सम्बन्धित प्रमाण पत्रों पर समयान्तर्गत आख्या/जॉच प्रेषित न किये जाने के फलस्वरूप अत्यधिक मात्रा में प्रमाण पत्र लम्बित चले आ रहे हैं तथा जनसामान्य को अत्यन्त कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है एवं विभाग की छवि आम जनता के बीच धूमिल हो रही है।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून- उत्तराखंड सरकार की बड़ी पहल अब स्कूलों में बच्चों को मिलेगा ये पोष्टिक भोजन

 

 

उपरोक्त कार्य न किये जाने हेतु कोई ठोस कारण आपके द्वारा न तो जनता को और न ही अधोहस्ताक्षरी को बताया जा रहा है जिससे भ्रम की स्थिति बनी हुई है। आज दिनांक 13.05.2024 को अपणि सरकार पोर्टल पर प्रदर्शित स्थिति के अनुसार तहसील स्तर पर कुल 147 प्रमाण पत्र एक अथवा दो दिन की अवधि में लम्बित हैं जिसमें कतिपय प्रमाण पत्र आपकी आई०डी० पर भी लम्बित प्रदर्शित हो रहे हैं। प्रमाण पत्रों के ससमय में निस्तारण हेतु आपको पूर्व में भी सूचित किया गया है किन्तु आपके द्वारा प्रकरणों को गम्भीरता से नहीं लिया जा रहा है जो राजकीय कार्यों के प्रति आपकी उदासीनता एवं उत्त्रंखल एवं मनमानी रवैये को दर्शाता है।

यह भी पढ़ें 👉  कोतवाली पुलिस ने बिंदुखत्ता क्षेत्र में मातृशक्ति की बैठक कर नशे व अन्य सामाजिक बुराइयों के खिलाफ उनसे सहयोग मांगा

 

 

अतः आपको निर्देशित किया जाता है कि पत्र प्राप्ति के 24 घण्टे के भीतर उपरोक्त प्रामाण पत्रों को निस्तारण करना सुनिश्चित करें अन्यथा की दशा में आपके विरूद्ध सेवा के अधिकार के अन्तर्गत शास्ति अध्यारोपित किये जाने हेतु कार्यवाही अमल में लायी जाऐगी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहाँ हुआ दर्दनाक हादसा, नदी में वाहन गिरने से चार लोगों की मौत, दो घायल