Uncategorizedउत्तराखण्ड

सीएम धामी ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से की मुलाकात, राज्य के विकास से जुड़े मुद्दों पर करी चर्चा

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को नई दिल्ली में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की, उनके साथ राज्य के विकास से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की और उनका मार्गदर्शन मांगा।

सीएम धामी ने इस अवसर पर उन्हें गृह मंत्री के रूप में दूसरे कार्यकाल के लिए बधाई भी दी। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने गृह मंत्री से आगे राज्य आपदा राहत कोष के तहत पुनर्निर्माण के लिए धनराशि बढ़ाने और नैनीताल में शत्रु संपत्ति मेट्रोपोल होटल परिसर की सभी भूमि वाहन पार्किंग के लिए राज्य सरकार को देने का अनुरोध किया।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून- इस बरसात सावधान! यहाँ नदी में नहाते हुए युवक डूबा, SDRF ने किया शव बरामद,

इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने राज्य में संचालित चार धाम यात्रा और जल्द ही शुरू की जाने वाली कांवड़ यात्रा कावड़ यात्रा जुड़े मुद्दों पर चर्चा की। इस बीच, इस साल एक जुलाई को पूरे देश में लागू होने वाले तीन नए आपराधिक कानूनों के लिए उत्तराखंड की तैयारियां पूरी हो गई हैं। उत्तराखंड की मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने मंगलवार को गृह सचिव भारत सरकार की अध्यक्षता में सभी राज्यों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग में यह जानकारी दी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखण्ड- यहाँ प्रशासन की बड़ी कार्यवाही, छात्रा पर जानलेवा हमला करने वाले के घर पर चला बुलडोजर

राधा रतूड़ी ने बताया कि उत्तराखंड सरकार ने तीनों नए आपराधिक कानूनों भारतीय न्याय संहिता (बीएनएस), भारतीय नागरिक सुरक्षा संहिता (बीएनएसएस) और भारतीय साक्ष्य अधिनियम (बीएसए) 2023 के क्रियान्वयन की पूरी तैयारी कर ली है। रतूड़ी ने यह भी बताया कि अल्प अवधि में ही जिला स्तर पर प्रशिक्षण का विकेन्द्रीकरण कर दिया गया है। ऐसे कर्मचारी जिनका पुलिस जांच में सीधा हस्तक्षेप नहीं होता है, उन्हें ऑनलाइन मोड में प्रशिक्षण दिया गया है, जिसके लिए एआई आधारित ऑनलाइन मॉड्यूल तैयार किया गया। उन्होंने बताया कि आरटीसी में कार्यरत नागरिक पुलिस/पीएसी के करीब 1000 रिक्रूट कांस्टेबलों को तीन दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया है।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल- हाईकोर्ट के द्वारा पूरे प्रदेश के राजमार्गों और सड़कों के किनारे हुए अतिक्रमण हटाने के आदेश दिए, चार सप्ताह में मांगी रिपोर्ट

इसके अलावा करीब 500 हेड कांस्टेबलों को भी पदोन्नति के लिए नए आपराधिक कानूनों का प्रशिक्षण दिया गया है नए आपराधिक कानूनों के प्रशिक्षण के लिए ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरह से प्रशिक्षण दिया गया है । सभी पुलिसकर्मियों को iGOT कर्मयोगी पोर्टल पर पंजीकृत किया गया है। बैठक में पुलिस महानिदेशक अभिनव कुमार, सचिव दिलीप जावलकर और गृह विभाग के अन्य अधिकारी मौजूद थे।