उत्तराखण्डकुमाऊं,गढ़वाल,

देहरादून- (बड़ी खबर) शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश, इन 10 बिंदुओं पर निजी स्कूल की करेंगे जांच

देहरादून न्यूज़ – आई०सी०एस०ई०/सी०बी०एस०ई०/ उत्तराखण्ड बोर्ड / राज्य सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त निजी विद्यालयों का निरीक्षण किये जाने विषयक।

उपर्युक्त विषयक मुख्य शिक्षा अधिकारी कार्यालय में गठित शिकायत निवारण प्रकोष्ठ में प्राप्त शिकायतों तथा समाचार पत्रों में प्रकाशित समाचारों का संज्ञान लेते हुए निजी विद्यालयों सम्बन्धी शिकायतों के निराकरण हेतु दिनांक 24.04.2024 को मुख्य शिक्षा अधिकारी कार्यालय में जनपद के समस्त खण्ड शिक्षा अधिकारियों एवं उप शिक्षा अधिकारियों की बैठक आयोजित की गई। बैठक में निर्णय लिया गया कि अभिभावकों की समस्या के निदान हेतु निजी विद्यालयों का सघन निरीक्षण किया जायेगा।

यह भी पढ़ें 👉  रामनगर - यहाँ पैसों के लालच में एक ही प्लॉट को तीन लोगों को बेचा, पीड़ित ने कोतवाली में दी तहरीर, पुलिस ने की ये कार्यवाही।

अतः शीघ्र ही शिक्षा अधिकारियों के नेतृत्व में निजी विद्यालयों का निरीक्षण किया जायेगा। टीम द्वारा मुख्य रूप से निम्न बिन्दुओं पर निरीक्षण किया जायेगा।

1. निःशुल्क और अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 एवं 2011 में उल्लेखित प्राविधानों के अनुसार विद्यालय का मान्यता सम्बन्धी प्रमाण पत्र का निरीक्षण किया जायेगा।

2- आर०टी०ई० के तहत मान्यता प्राप्त अल्पसंख्यक विद्यालयों को राज्य सरकार अथवा (NCMEI) National Commission for Minority Educational Institutions द्वारा अल्पसंख्यक संस्थान घोषित किये जाने के प्रमाण पत्र का निरीक्षण किया जायेगा।

3- राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद द्वारा संस्थाध्यक्ष अध्यापकों की शैक्षिक योग्यता का निरीक्षण किया जायेगा।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहाँ घोड़े पर सवार था दूल्हा, तभी सामने से आया मौसी का बेटा ओर मार दी गोली, पढ़े खबर

अध्यापक के रूप में नियुक्त होने हेतु अनिवार्य शैक्षिक योग्यता निम्नवत है-

4- कक्षा-1 से कक्षा 5 तक के शिक्षकों हेतु टी०ई०टी०-प्रथम, कक्षा 6 से कक्षा-8 तक के शिक्षकों हेतु टी०ई०टी० द्वितीय व नर्सरी कक्षाओं हेतु एन.टी.टी. 4. बच्चों को किसी निश्चित दुकान से ड्रेस एवं पुस्तकें क्रय कराये जाने के सम्बन्ध में निरीक्षण किया जायेगा।

5- पठन-पाठन एन०सी०आर०टी० की पुस्तकों से किया जा रहा है या नहीं व सहायक पुस्तकों का मूल्य एन०सी०आर०टी० की पुस्तकों से अधिक तो नही है का निरीक्षण किया जायेगा।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून-(बड़ी खबर) गृह जनपद में ही मिलेगी इन मुख्य प्रशासनिक अधिकारियों को तैनाती

6- विद्यालय में स्कूल प्रबन्धन समिति गठित की गयी है या नहीं का निरीक्षण किया जायेगा।

7- प्रत्येक निजी विद्यालय में आर०टी०ई० की धारा 12 (1) (c) के अन्तर्गत अध्ययनरत बच्चों का भौतिक सत्यापन किया जायेगा।

8- विद्यालय के द्वारा ली जाने वाले विभिन्न शुल्कों का विवरण प्राप्त किया जायेगा।

9- विद्यालयों के सम्बन्ध में शिकायत निवारण प्रकोष्ठ को, जो शिकायतें प्राप्त हुयी हैं उनकी जांच की जायेगी।

10- ऐंसे अन्य क्षेत्र जो शैक्षिक गुणवत्ता तथा विद्यार्थियों की सुरक्षा से सम्बन्धित हो का निरीक्षण किया जायेगा।