उत्तराखण्डकुमाऊं,गढ़वाल,

देहरादून- (बड़ी खबर) उत्तराखंड में सभी सरकारी अस्पतालों में मरीजों को दी जा रही दवाओं की जांच के आदेश, पढ़े खबर

देहरादून न्यूज़- उत्तराखंड में औषधि विभाग ने सरकारी अस्पतालों में मरीजों को दी जा रही दवाओं की जांच के आदेश दिए हैं। गढ़वाल और कुमाऊं मंडल के अस्पतालों में दवाओं की जांच के लिए औषधि निरीक्षकों की अलग-अलग टीम गठित की गई हैं। अपर आयुक्त व ड्रग कंट्रोलर ताजबर जग्गी ने बुधवार को इसके आदेश किए।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून- यहाँ यूकेडी के दफ्तर में जमकर हुआ बवाल, आपस में भिड़ गये दो गुट, जाने पूरा मामला।

 

दरअसल, हाल में उत्तराखंड में बनी कुछ दवाओं के सैंपल जांच में फेल हो गए थे। गतवर्ष रुड़की में नकली दवा निर्माण की फैक्ट्री भी पकड़ी गई थी। ऐसे में प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में भी घटिया दवाओं की सप्लाई तो नहीं हो रही, यह जांचने के लिए जांच के आदेश दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  एलबीएस छात्र संघ चुनाव छठा चरण

 

ड्रग कंट्रोलर ने बताय कि सभी सरकारी अस्पतालों में मरीजों को दी जा रही दवाओं की जांच और सैंपलिंग का निर्णय लिया गया है। औषधि विभाग ने गढ़वाल मंडल में एडीसी सुधीर कुमार और मनेंद्र राणा को जबकि कुमाऊं में एडीसी हेमंत नेगी और नीरज कुमार को यह जिम्मेदारी दी गई है। उन्होंने बताया कि शिकायत मिली है कि बाजार में कई ऐसी दवाएं बेची जा रही हैं जो दिखने में तो असली जैसी हैं पर वास्तव में उनमें दवा का कोई कंटेंट नहीं है। जग्गी ने बताया कि इसके चलते प्राइवेट मेडिकल स्टोरों में भी रैंडम जांच कर दवाओं की सैंपलिंग करने के निर्देश दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- प्रदेश के 27 लाख बिजली उपभोक्ताओं को नए साल में लगेगा बड़ा झटका, इतनी प्रतिशत की बिजली में होगी बढ़ोती, उत्तराखंड विद्युत नियामक आयोग को जल्द भेजा जाएगा प्रस्ताव