उत्तराखण्डकुमाऊं,

हाईकोर्ट में सरकार ने कहा नही बढ़ाया जाएगा प्रशासकों का कार्यकाल, तय समय में ही होंगे उत्तराखंड में निकाय चुनाव

  • हाईकोर्ट में सरकार ने कहा, नहीं बढ़ाया जाएगा प्रशासकों का कार्यकाल

नैनीताल न्यूज़– हाईकोर्ट में नगर निकायों के चुनाव कराने के मामले में दायर जनहित याचिका पर सरकार की ओर से महाधिवक्ता एसएन बाबुलकर ने कहा कि नगर निकायों में प्रशासकों का कार्यकाल नहीं बढ़ाया जाएगा। चुनाव समय के भीतर हो जाएंगे।

पूर्व में निर्धारित समयावधि छह माह के भीतर नगर निकाय की चुनाव प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। महाधिवक्ता की ओर से दिए गए इस वक्तव्य के बाद मुख्य न्यायाधीश रितू बाहरी एवं न्यायमूर्ति राकेश थपलियाल की खंडपीठ ने जनहित याचिकाओं को निस्तारित कर दिया। जसपुर निवासी मोहम्मद अनस, नैनीताल निवासी राजीव लोचन साह ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर राज्य में निकायों में प्रशासक नियुक्त करने को चुनौती देते हुए शीघ्र निकाय चुनाव कराए जाने की मांग की थी।

यह भी पढ़ें 👉  लालकुआं के वरिष्ठ समाजसेवी की ह्रदय गति रुकने से हुई मौत, क्षेत्र शोक की लहर

वही हाईकोर्ट के आदेश 9 जनवरी 2024 के अनुसार महाधिवक्ता ने कहा था कि चुनाव प्रक्रिया छह माह के भीतर पूरी हो जाएगी और निकायों में नियुक्त प्रशासकों का कार्यकाल उत्तराखंड नगर पालिका अधिनियम, 1916 की धारा 10 ए (4) के तहत छह माह की अवधि से अधिक नहीं बढ़ाया जाएगा। इन याचिकाओं की 16 अप्रैल को मुख्य न्यायाधीश रितू बाहरी एवं न्यायमूर्ति राकेश थपलियाल की खंडपीठ के समक्ष सुनवाई हुई।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून-(बड़ी खबर) इन जिलों में 24 से भारी बारिश और बर्फबारी के आसार....

सुनवाई में महाधिवक्ता ने बताया कि नगर निकायों की चुनाव प्रक्रिया चल रही है चुनाव समय पर ही होंगे। इस आदेश के बाद अब प्रशासनिक हलचल तेज हो जाएंगी इसके साथ ही राजनीतिक गतिविधियां भी बढ़ जाएंगी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहां ग्रामीण ने काटा खुद का ही गुप्तांग, गंभीर हालत में अस्पताल में किया भर्ती