उत्तराखण्डगढ़वाल,

उत्तराखंड- ऋषिकेश में बीच बाजार दबंगई दिखा रहे थे दिल्ली के युवक, हुई धुनाई तो नानी याद आई, वायरल वीडियो

  • किसी भी पक्ष की ओर से लिखित शिकायत नहीं मिली

ऋषिकेश न्यूज़- तीर्थनगरी के सबसे व्यस्ततम सुभाष चौक मेन बाजार में कार लेकर घुसे कुछ युवकों ने एक स्थानीय बाइक सवार को टक्कर मार दी। बाइक सवार ने प्रतिवाद किया तो गाड़ी में सवार युवकों ने उसकी पिटाई कर दी।

 

आसपास मौजूद लोग ने दुकानों में यात्रियों को बेचने के लिए रखे गए डंडों से चारों की जमकर धुनाई की। स्थानीय लोगों को दबंगई दिखाना इन चारों को महंगा पड़ा। किसी तरह से यह लोग जान बचाकर यहां से भागे। इस घटना का वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गया।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में BRP-CRP शिक्षकों की 900 से ज्यादा भर्तियों के लिए आवेदन हुए शुरू, ऐसे करे आवेदन

 

 

कोतवाली पुलिस के मुताबिक किसी भी पक्ष की ओर से कोई लिखित शिकायत इस मामले में नहीं मिली है। सुभाष चौक मेन बाजार में मारपीट की यह घटना बुधवार दोपहर की है।

 

मुखर्जी मार्ग के रास्ते एक दिल्ली नंबर की कार जिसमें चार लोग सवार थे, बाजार में घुसी। आगे चल रहे एक बाइक सवार को इस गाड़ी ने टक्कर मारी। बाइक का स्टैंड क्षतिग्रस्त हो गया, बाइक चला रहे युवक ने जब नुकसान की भरपाई करने को कहा तो गाड़ी में सवार लोग उस पर बिगड़ गए और उसके साथ हाथापाई कर दी।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी - अब अगर बाइक तेज गति से दौड़ाई तो सीधा आपके मोबाईल पर आएगा चालान, परिवहन विभाग ने तय की गति सीमा

 

आसपास मौजूद व्यापारी और अन्य लोग इस पूरे मामले को देख रहे थे। दिल्ली निवासी इन चारों लोगों की दबंगई कुछ लोगों को सहन नहीं हुई। इन लोगों ने इन सभी को ऐसा न करने के लिए कहा तो दिल्ली निवासी चार लोग स्थानीय लोगों पर ही बिगड़ पड़े। इन चारों ने हाथापाई शुरू कर दी।

यह भी पढ़ें 👉  लालकुआँ विधायक व कांग्रेसी नेता के बीच हुई बहस का वीडियो हुआ वायरल, नुमाइश में हो गई समस्याओं की नुमाइश, देखे वीडियो

 

यात्रा सीजन में श्रद्धालुओं को बेचने के लिए दुकानों में लाठियां रखी थी। लोगों ने इन्हीं लाठियां से इन दबंगों की धुनाई करनी शुरू कर दी। कई दुकानों के शटर गिर गए। यह चारों लोग किसी तरह यहां से जान बचाकर कोतवाली पहुंचे।

 

वरिष्ठ उप निरीक्षक उत्तम रमोला ने बताया कि इस मामले में कुछ लोग मौखिक शिकायत लेकर आए थे। मगर, लिखित रूप से किसी की कोई शिकायत नहीं मिली, यह लोग वापस चले गए।