उत्तराखण्डकुमाऊं,गढ़वाल,

तपती जलती गर्मी के बीच उत्तराखंड वालों के लिए राहत की खबर, इस बार समय से पहले पहुंचेगा प्रदेश में मानसून

नैनीताल न्यूज़- इस बार समय से पहले मानसून पहुंचने के आसार अभी से नजर आने लगे हैं। ला नीना के चलते मानसून की वर्षा सामान्य से अधिक होने की संभावना मौसम विभाग ने जताई है।

 

जून में प्री मानसून वर्षा शुरू हो जाएगी। मौसम विभाग के राज्य निदेशक डा. विक्रम सिंह ने बताया कि अल नीनो के प्रभाव के चलते शीतकालीन वर्षा पर बुरा असर पड़ा है और सामान्य से बहुत कम पानी बरस पाया। मगर इसकी भरपाई ला नीना से होने की पूरी संभावना है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- नैनीताल के युवाओं को मिलेगा विदेशों में रोजगार, ऐसे कर सकते हैं पंजीकरण।

 

ला नीना का प्रभाव अगस्त व सितंबर में नजर आएगा। इससे पहले जून व जुलाई का मानसून सामान्य रूप से बरसेगा। इसके बाद ला नीना का असर शुरू होते ही बर्षा तेज होने की संभावना है। जो मानसून की वर्षा की मात्रा को सामान्य से अधिक पहुंचाएगी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- नैनीताल दुग्ध संघ ने रक्षा बन्धन व जनमाष्ठमी पर्व के उपलक्ष्य में दुग्ध उत्पादको को दी सौगात।

 

अधिक वर्षा कृषि के लिए के लिए फायदेमंद होगी, लेकिन पर्वतीय क्षेत्रों में भूस्खलन की संभावना रहेगी। जिस कारण सतर्क रहने की आवश्यकता है। प्रदेश में सामान्य से अधिक बारिश होने की 61 प्रतिशत संभावना है। फिलहाल ला नीना अपनी राह मे धीरे-धीरे आगे बढ़ रहा है।

 

आर्यभट्ट प्रेक्षण विज्ञान शोध संस्थान (एरीज) के वायुमंडलीय विज्ञानी डा. नरेंद्र सिंह ने बताया कि ग्लोबल वार्मिंग ने पैर पसारने शुरू कर दिए हैं। अल नीनो का असर अभी थमा भी नहीं था कि ला नीना सक्रिय हो चला है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी में पेट्रोल पंप कर्मचारी की दबंगो ने की बेहरमी से पिटाई, वीडियो हुआ वारयल

 

वैश्विक ताप का जलवायु पर तेजी से असर दिखना शुरू हो गया है। जिसके चलते दुनिया के देशों में तूफानों की संख्या में बढ़ोतरी के पूरे आसार हैं। साथ ही शीतकाल में संभवतः पश्चिमी विक्षोभों की संख्या और ठंड में भी बढ़ोतरी अधिक होगी।