उत्तराखण्डकुमाऊं,

उत्तराखंड में हो रही लगातार भारी बारिश ने फल- सब्जियों में लगाई आग, टमाटर हुआ लाल तो प्याज ने निकले आंसू

उत्तराखंड में पिछले चार दिनों से लगातार भारी बारिश ने सब्जी और फलों के दाम बढ़ा दिए हैं। सब्जियों के दामों में अचानक से आए तेजी से लोग हैरान हैं।

लगातार हो रही है बारिश ने प्याज, आलू, टमाटर हरी, मिर्च, भिंडी और तोरी जैसी तमाम सब्जियों पर असर डाला है। इन सब्जियों के नाम पिछले 4 से 5 दिनों में 15 से 20 फीसदी तक बढ़ चुके हैं। जबकि अगर फलों की बात की जाए तो फलों के दामों में भी तेजी से बढ़ोतरी देखी जा रही है। इन दिनों आम लीची का सीजन है, लेकिन आम और लीची के दामों में भी काफी उछाल देखने को मिल रहा है।

 

चार दिन पहले तक आम 30 से 35 रुपये मिल रहा था अब यही आम 45 से 60 रुपए तक बिक रहा है, जबकि लीची की अगर बात की जाए तो लीची बाजार से लगभग गायब होती दिखाई दे रही है। लीची के दामों में काफी तेजी आई है, जहां भी चीज 100 रुपये किलो तक मिल रही थी अभी लीची 180 से 220 रुपये किलो तक बिक रही है, जबकि सेब केला अमरूद अनानास जैसे फल 20 फीसदी तक महंगे हो चुके हैं।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून-(बड़ी खबर) UKPSC ने इस भर्ती परीक्षा का परिणाम किया जारी, पढ़े पूरी खबर।

 

उत्तराखंड में बढ़ें फल और सब्जियों के दाम

महंगाई का सबसे ज्यादा असर फलों पर देखने को मिल रहा है। फलों के दामों में 20-20 तक की उछाल देखने को मिल रही है। वहीं लगातार हो रही है बारिश अभी और इन सब्जियों मेंऔर फलों में महंगाई बढ़ा सकती है। बरसात के दिनों में फलों सब्जी तेजी से खराब होते हैं। इसका एक कारण यह भी है कि फलों में महंगाई देखने को मिल रही है। एक बार इसके बाद ही फल और सब्जियां खराब होने लगते हैं ऐसे में इन पर महंगाई बढ़ना नहीं बात नहीं है, लेकिन जिस तरह से बारिश लगातार उत्तराखंड में हो रही है उसे आने वाले समय में सब्जी और फलों पर और भी महंगाई देखने को मिल सकती है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- हरीश रावत, करन माहरा सहित वरिष्ठ नेताओं संग प्रदेश प्रभारी शैलजा कुमारी ने की बैठक, प्रदेश की इन दो सीटों पर होने हैं प्रत्याशी घोषित

 

 

बारिश को लेकर अलर्ट जारी

उत्तराखंड में मौसम विभाग में अगले दो दिनों तक और बारिश होने की संभावना जताई है। वह भी उत्तराखंड के कुमाऊं रीजन में कुमाऊं के कई जिलों में अगले दो दिनों तक और बारिश होनी है। अगर 2 दिनों तक बारिश और होती है तो ऐसे में फल और सब्जियों पर काफी महंगे बढ़ सकती है।

यह भी पढ़ें 👉  कोटद्वार- भारी बारिश से कोटद्वार में तबाही, मालन पुल बीचों-बीच टूटा, कई गांव से संपर्क कटा।

 

इसको लेकर कई लोगों की राय ये है कि फल और सब्जियों की महंगाई आखिर क्यों हो रही है। अधिकांश लोगों को कहना था कि बारिश में सब्जी और फल तेजी से खराब होते हैं। इसलिए इन पर महंगाई बढ़ जाती है। दूसरा बारिश में सप्लाई कम हो जाती है तो उसे कारण भी फलों का महंगा होना आम बात है, जबकि अगर बरसात और होती है तो सब्जी और फल 20 से 30 फीसदी तक महंगे हो सकते हैं।