उत्तराखण्डकुमाऊं,

भगवान राम की बाल लीला की कथा का सुंदर बखान

लालकुआं न्यूज़- हल्दूचौड़ के परमा स्थित श्री गौर राधा कृष्ण मंदिर नित्यानंद पाद आश्रम गौधाम में चल रही श्री राम कथा के चौथे दिन अंतर्राष्ट्रीय संत व प्रख्यात कथा वाचक श्रील नव योगेंद्र जी महाराज ने भगवान श्री राम की बाल लीला की कथा का सुंदर बखान किया। इस दौरान भगवान के जयकारों से पूरा क्षेत्र भक्तिमय हो गया।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून-1 जनवरी से सरकारी अस्पतालों में इलाज में मिलेगी बड़ी राहत, सरकार ने लिया है यह बड़ा फैसला

उन्होने कहा कि एक बार बाल्य काल में भगवान राम ने एक मंदिर में मदारी को बंदर नचाते हुए देखा। जिसपर नन्हें राम ने अपने पिता राजा दशरथ से बंदर की इच्छा प्रकट की। राजा के निर्देश पर कई बंदर मंगाए गए किंतु नन्हें राम को कोई भी बंदर पसंद नही आया। जिसके बाद वषिष्ठ ऋषि के सलाह पर शिव अवतार अंजनी पुत्र हनुमान को लाया गया। जिसके बाद ही राम जी प्रशन्न् हुए। रोजाना बाल हनुमान नन्हें राम को खुश करने के लिए नाना प्रकार के करतब करते थे। उन्होने कहा कि कथा से हमें सीख मिलती है कि हमें प्रभु को खुश करने का प्रयास करना चाहिए।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- देहरादून से दिल्ली को चलने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रैन का उद्धाटन कल पीएम मोदी वर्चुअल के माध्य्म से दिखाएंगे हरी झंडी, पढ़े पूरी खबर।

कथा के बीच में सुंदर भजनों की प्रस्तुति में श्रद्धालु थिरकते रहे। देर सांय प्रसाद वितरण किया गया। इस दौरान गौधाम के व्यवस्थापक स्वामी रामेश्वर दास, विधायक डा मोहन बिष्ट, गोपीनाथ दास, नारद मुनि दास, कमलेश भट्ट, बीडी खोलिया, ज्वाला दत्त पलडिया, त्रिलोक सुयाल, सतीश दास, केवल दास, भरत श्रेष्ठ दास, प्रकाश भट्ट, चंदू खोलिया, कुंती माता, सविता माता, लक्ष्मी खोलिया समेत अनेकों श्रद्धालु मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  कोदा झिंगोरा उगाएंगे उत्तराखंड को आत्म निर्भर बनाएंगे- कृषि मंत्री गणेश जोशी