उत्तराखण्डकुमाऊं,

हल्दूचौड़ स्थित चिल्ड्रंस एकेडमी स्कूल में दो दिवसीय कथक कार्यशाला का हुआ आयोजन

हल्दूचौड़ स्थित चिल्ड्रंस एकेडमी स्कूल के कृष्ण स्वरूप मैमोरियल सभागार में दिनांक 12 व 13 फरवरी को दो दिवसीय कथक कार्यशाला आयोजित की गई।

कार्यशाला का शुभारंभ मां शारदा के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर किया गया। जिसमें विश्व प्रसिद्ध कथक विशेषज्ञ ‘पंडित बिरजू महाराज जी’ की शिष्या सुप्रसिद्ध नृत्यांगना यूनाइटेड किंगडम, लंदन निवासी काजल शर्मा’ द्वारा कथक नृत्य के इतिहास, घरानों तथा कथक की विभिन्न मुद्राओं के बारे में विद्यार्थियों को जानकारी दी गई।

यह भी पढ़ें 👉  लालकुआँ में लगातार दूसरे दिन वन कर्मियों ने दिलाई नगर वासियों को बंदरों के आतंक से निजात, पकड़े इतने बन्दर

इससे पूर्व विगत वर्ष भी कथक की दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया था। जिसमें काफी संख्या में छात्राएँ कथक की बारीकियों से लाभान्वित हुए थे।इस बार 14 फरवरी को विद्यालय परिवार द्वारा बसंत पंचमी के दिन आयोजित किए जाने वाले धार्मिक अनुष्ठान में भी उनका सानिध्य प्राप्त होगा। मौके पर कार्यशाला के आयोजन पर प्रकाश डालते हुए विद्यालय के निदेशक श्रीष पाठक ने बताया कि कार्यशाला का उद्देश्य विद्यार्थियों को ज्ञानार्जन के साथ-साथ भारतीय प्राचीन शास्त्रीय संगीत एवं नृत्य कला से अवगत कराना है, जिससे बच्चे इस कला से जुड़ पाएं और कथक के प्रति रुझान उत्पन्न कर अपनी प्रतिभा को निखार सकें और साथ ही भारतीय संस्कृति व कला के उन्नयन में अपना योगदान दे सकें।

यह भी पढ़ें 👉  एनयुजे आई लालकुआं इकाई के शैलेंद्र अध्यक्ष और सचिव महामंत्री बने

इस दौरान विदुषी काजल शर्मा ने विद्यालय की छात्राओं को कथक की बारीकियों से अवगत कराते हुए हस्तमुद्राएँ ,पैरों की थाप, चेहरे के भाव, नजाकत, लय, ताल आदि का अभ्यास कराया। इस अवसर पर विद्यार्थियों ने सुंदर कथक नृत्य की प्रस्तुति दी।मौके पर सभी प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र देकर पुरस्कृत किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी- मालिक की अनुमति के बिना घर पर राजनीतिक विज्ञापन लगाया तो जारी होगा नोटिस, प्रत्याशियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्यवाही

इस दौरान विदुषी काजल शर्मा की शिष्या कथक एवं बैले डान्सर डाॅक्टर मिरेंन्डा, विद्यालय के निदेशक श्रीष पाठक, प्रधानाचार्य मोनिका जोशी, निदेशिका ला इन्फैंसिया कविता पाठक, एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर प्रियांशी पाठक ,प्रशासिका रेनू मिश्रा ,आदि गणमान्यों सहित शिक्षक एवं विद्यार्थी उपस्थित रहे।