उत्तराखण्डउधम सिंह नगरकुमाऊं,

उत्तराखंड- घर से दवाई लेने गए बीबीए के छात्र का इस हालत में मिला शव, मचा हड़कंप

खटीमा न्यूज़– यहाँ घर से दवाई लेने चकरपुर बाजार गए बीबीए के छात्र का अधजला शव वनखंडी शिव मंदिर के पीछे जंगल में मिला। शव के पास ही स्कूटी, पेट्रोल की कैन व दो मोबाइल भी मिले हैं। पिता ने हत्या का आरोप लगाया है।

चकरपुर हनुमान गढ़ी निवासी असम राइफल्स के हवलदार सुरेश चंद ठुकरी का पुत्र 21 वर्षीय आयुष चंद ग्राफिक एरा यूनिवर्सिटी देहरादून से बीबीए कर रहा था। इस बार उसका अंतिम वर्ष था। स्वजन ने बताया कि बुधवार को आयुष को बुखार था और वह दवाई लेने चकरपुर बाजार जाने की बात कहकर घर से स्कूटी से निकला।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी-(बड़ी खबर) नैनीताल पुलिस व एसओजी टीम को मिली बड़ी सफलता, 1 किलो से अधिक स्मैक के साथ सिपाही सहित तीन तस्कर गिरफ्तार

रात तक वह घर नहीं लौटा और फोन भी रिसीव नहीं हुआ तो उसकी तलाश शुरू की गई। गुरुवार सुबह जंगल में गश्त कर रहे वनकर्मियों को शिव मंदिर के पीछे जंगल की झाड़ियों में अधजला शव दिखाई दिया। सूचना पर चकरपुर पुलिस चौकी प्रभारी हिमांशु जोशी टीम के साथ मौके पर पहुंचे।

स्वजन भी मौके पर आ गए। शव से करीब 20 फीट दूरी पर स्कूटी खड़ी थी। वहीं पर पेट्रोल की कैन आधी भरी रखी थी। चप्पल, टोपी, दो मोबाइल व हेडफोन भी आसपास ही पड़े थे। आयुष का ऊपरी आधा शरीर जला हुआ था, पैर पूरी तरह से सुरक्षित थे। पिता सुरेश चंद ने पुत्र की हत्या का आरोप लगाते हुए आरोपितों को पकड़ने की मांग की।

यह भी पढ़ें 👉  यहाँ गुलदार की खाल के साथ एक तस्कर गिरफ्तार

कोतवाल प्रकाश दानू ने बताया कि आसपास के सीसीटीवी की फुटेज खंगाली जा रही है। एक फुटेज में आयुष की स्कूटी के आगे-पीछे कुछ युवक पीछा करते हुए दिखाई दे रहे हैं। इनकी पहचान की जा रही है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहाँ आर्मी इंटेलीजेंस ने रुड़की से दबोचा एक फर्जी सैन्यकर्मी, यहाँ देता था सेना की ट्रेनिंग

मूलरूप से पिथौरागढ़ जिले के जाजरदेवल धारीगढ़ निवासी सुरेश चंद वर्ष 2017 में परिवार समेत चकरपुर के हनुमानगढ़ी में आकर बस गए थे। परिवार में आयुष इकलौता पुत्र था और दो बेटियां आसना व मीना हैं। सुरेश चंद एक माह के अवकाश पर इन दिनों घर आए हुए हैं। आयुष भी कालेज में छुट्टी होने की वजह से घर आया था।