उत्तराखण्डगढ़वाल,

उत्तराखंड- रुद्रप्रयाग सड़क हादसे में घायलों का हाल जानने के लिए एम्स ऋषिकेश पहुंचे सीएम धामी, डॉक्टरों को दिए बेहतर इलाज करने के निर्देश

ऋषिकेश न्यूज़-: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने एम्स ऋषिकेश पहुंचकर भर्ती हुए रुद्रप्रयाग सड़क हादसे के घायलों का स्वास्थ्य हाल जाना। इस दौरान सीएम ने एम्स कार्यकारी निदेशक प्रो. नीतू सिंह को घायलों को बेहतर से बेहतर उपचार देने व कड़ी निगरानी करने के निर्देश दिए। सीएम धामी ने कहा कि सरकार हादसे में मृतक आश्रितों व घायलों की हर संभव सहायता करेगी।

 

सात लोग लाए गए थे एम्स ऋषिकेश

शनिवार शाम को सीएम पुष्कर सिंह धामी ने एम्स ऋषिकेश पहुंचे। उन्होंने घायलों से मुलाकात की और उनके परिजनों को ढांढस बंधाया। सीएम धामी ने एम्स की कार्यकारी निदेशक प्रो. नीतू सिंह व चिकित्सकों से घायलों के स्वास्थ्य व अन्य मृतकों के बारे में जानकारी ली।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहाँ अलग-अलग घटनाओं में चार युवक गंगा में डूबे, तीन के शव बरामद, एक की तलाश जारी

 

एम्स ऋषिकेश की ट्रामा सर्जन डा. रूबी कटारिया ने बताया कि रुद्रप्रयाग सड़क हादसे के कुल सात घायलों को एम्स ऋषिकेश लाया गया, जिसमें दो मृत घोषित किए गए। जबकि, अन्य पांच घायलों को भर्ती किया गया है।

 

कई घायलों की अभी पहचान नहीं

बताया कि सभी को शरीर के कई भागों में गहरी चोटें आई हैं और लगभग सभी गंभीर स्थिति में हैं। ट्रामा विभाग के सर्जन सहित एम्स के विभिन्न विभागों की डाक्टरों की टीम गहन उपचार में जुटी है। उन्होंने बताया कि घायलों में 22 वर्षीय छवि व 35 वर्षीय आदित्य के अलावा अन्य बोलने की स्थिति में नहीं हैं, इसलिए अभी उनकी पहचान नहीं हो सकी है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहाँ युवक के साथ बेटी को देखकर परिवार का चढ़ा पारा, युवक को निर्वस्त्र कर बेहरमी से पीटा, देखे वीडियो

 

सीएम धामी ने चिकित्सकों से उपचार में किसी तरह की कमी नहीं रहने देने के निर्देश दिए। सीएम ने प्रो. नीतू सिंह को भी घायलों के उपचार पर करीबी नजर रखने को कहा। सीएम पुष्कर सिंह धामी ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि सरकार आश्वस्त करती है कि घायलों को बेहतर से बेहतर उपचार दिलाया जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  यहां पति ने दी अपनी पत्नी की हत्या की सुपारी, पति सहित दो गिरफ्तार पुलिस ने किया मामले का खुलासा

 

कहा कि सरकार मृतक आश्रितों व घायलों की सहायता से पीछे नहीं हटेगी। इस अवसर पर उप निदेशक (प्रशासन) ले. कर्नल अमित पराशर, ट्रॉमा सर्जन डॉक्टर मधुर उनियाल और संस्थान के जन सम्पर्क अधिकारी सन्दीप कुमार सिंह आदि मौजूद थे।