उत्तराखण्डगढ़वाल,

देहरादून- यहाँ निर्वाचन प्रशिक्षण में अनुपस्थित रहे 64 कार्मिकों पर होगी अब FIR, जिला अधिकारी ने दिए कार्यवाही के निर्देश

  • कुल 10 हजार 600 कार्मिक को दिया जाएगा प्रशिक्षण।
  • पहले दिन 1,676 कार्मिक शामिल हुए।

देहरादून न्यूज़- लोकसभा चुनाव में भली-भांति जिम्मेदारियों का निर्वहन को लेकर केंद्र एवं राज्य कार्मिकों को ईवीएम व सैद्धांतिक निर्वाचन का प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

प्रशिक्षण के पहले ही दिन 22 विभागों के 64 कार्मिक अनुपस्थित मिले। जिला निर्वाचन अधिकारी एवं जिलाधिकारी सोनिका ने कड़ा रुख अपनाते हुए कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। पहले दिन 1,740 में से 1,676 कार्मिकों ने प्रशिक्षण लिया। देहरादून में कुल 10 हजार 600 कार्मिकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा।

सोमवार को कौलागढ़ स्थित उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद सभागार में जिला निर्वाचन की ओर से 18-20 मार्च तक प्रथम चरण का तीन दिवसीय ईवीएम एवं सैद्धांतिक निर्वाचन प्रशिक्षण शुरू किया गया है।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल जिले में तीन स्थानीय अवकाश हुए घोषित

जिला निर्वाचन अधिकारी एवं जिलाधिकारी सोनिका ने बताया कि प्रशिक्षण के पहले दिन अनुस्थित कार्मिकों के खिलाफ एफआइआर दर्ज करने के निर्देश दिए गए हैं।

कहा कि जिला निर्वाचन कार्यालय को केंद्र एवं राज्य के तकरीबन 20 हजार कार्मिकों की सूची उपलब्ध कराई गई थी। जिसमें से 10 हजार 600 को प्रशिक्षण में शामिल किया गया है। पहले चरण के तीन दिवसीय कार्यक्रम में 5,156 कार्मिकों को प्रशिक्षण में शामिल किया गया है।

कार्मिकों को लोकसभा चुनाव की जिम्मेदारियों की भली भांति निर्वहन को लेकर ईवीएम, मतदान प्रक्रिया, माक पोल, बूथ के कार्यों के बारे में विस्तार से बताया गया। पहले दिन दो सत्र में कार्मिकों को प्रशिक्षण के साथ ही संशय दूर किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  कांग्रेस ने जारी की उम्मीदवारों की लिस्ट, देखे किसे कहां से मिला टिकट

मतदान शुरू होने से पहले पीठासीन अधिकारियों को न्यूनतम 50-55 माक पोल करने के निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ ही समय पर मतदान प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश दिए। इस दौरान प्रशिक्षण में मौजूद कार्मिकों को निर्वाचन प्रमाण पत्र देकर जिला निर्वाचन अधिकारी एवं जिलाधिकारी सोनिका ने सम्मानित किया।

प्रशिक्षण के पहले दिन 22 विभागों के 64 कार्मिक अनुस्थित मिले। जिसमें से सबसे ज्यादा शिक्षा विभाग के 14, ओनएजीसी व बैंक के आठ-आठ, व्यापार कर के चार, केंद्रीय विद्यालय, आइटीबीपी व ग्राम्य विकास के तीन-तीन, लोक निर्माण विभाग, पालिटेक्निक, भविष्य निधि, जीएमवीएन, यूजेवीएसएल सिंचाई व सर्वे आफ इंडिया के दो-दो, सीबीए एयर फोर्स, बाल विकास, सिंचाई, जल संस्थान, नगर निगम, भू जल बोर्ड, अर्थ संख्या, एफआरआइ व कृषि विभाग से एक-एक कार्मिक अनुपस्थित मिले।

यह भी पढ़ें 👉  संस्कृति की अद्भुत झलक है हल्दूचौड़ का कौतिक मेला सात दिवसीय उत्तरायणी मेले की तैयारियाँ जोरों पर- मेलाध्यक्ष दिनेश पाण्डेय

लोकसभा चुनाव की रूप रेखा

-केंद्र एवं राज्य के विभागों की संख्या 800

-जिले में कुल बूथ की संख्या तकरीबन 2000

-पीठासीन अधिकारियों की संख्या करीबन 2000

-वीवी पैड को बचाना होगा रोशनी से

-लापरवाही बरतने पर होगी कड़ी कार्रवाई