उत्तराखण्डकुमाऊं,

हल्द्वानी- बनभूलपुरा हिंसा के मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक पर डबल एक्शन, नेपाल सीमा पर चस्पा किए गए वांटेड अब्दुल मलिक के पोस्टर

हल्द्वानी न्यूज़– हल्द्वानी हिंसा का मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक और उसका बेटा अब्दुल मोईद नेपाल के रास्ते विदेश भाग सकता है। इसकी पूरी संभावना है इसे देखते हुए एक टीम ने चंपावत, दूसरी टीम ने बनबसा में डेरा डाला हुआ है। उधर बुधवार को पुलिस टीम ने बनबसा और नेपाल बार्डर में वांटेड अब्दुल मलिक और उसके बेटे अब्दुल मोईद के पोस्टर लगाए।

लाइन नंबर 8 बनभूलपुरा निवासी अब्दुल मलिक और उसके बेटे अब्दुल मोईद को उपद्रव का मास्टरमाइंड माना जा रहा है। परिवार समेत दोनों दंगे के दिन से ही फरार हैं। इन दोनों की बीवियों का भी उसी दिन से कोई पता नहीं है। वे दोनों भी पुलिस के रडार पर हैं।

यह भी पढ़ें 👉  किसान मेले में सेंचुरी पेपर मिल प्रथम पुरस्कार से सम्मानित

पुलिस दोनों की कुर्की कर चुकी है। उनके खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया जा चुका है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, विभिन्न एयरपोर्ट से डाटा प्राप्त कर लिया गया है लेकिन इनके अभी तक विदेश भागने की पुष्टि नहीं हुई है।

पुलिस को सूचना मिली कि अब्दुल मलिक नेपाल के रास्ते बाहर भाग सकता है। इसे देखते हुए एसएसपी प्रहलाद नारायण मीणा ने चंपावत और बनबसा में पुलिस भेजी है। नेपाल बार्डर पर भी विशेष पहरा दिया जा रहा है। इसे देखते हुए पुलिस ने नेपाल बॉर्डर और सीमा से सटे स्थानों पर अब्दुल मलिक और अब्दुल मोईद के पोस्टर चस्पा किए और साथ ही लोगों से अपील कर रही है कि अगर दोनों कहीं भी दिखते हैं या इनके बारे में किसी अन्य तरह की सूचना हो तो तुरंत पुलिस से संपर्क करें। पुलिस ने नंबर भी जारी किए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  हरिद्वार- यहाँ सड़क हादसे में बाइक सवार एक कांवड़िये की मौत, दो घायल।

फरार अब्दुल मलिक और अब्दुल मोईद की सरगर्मी से तलाश की जा रही है। एक टीम नेपाल बॉर्डर से जुड़े इलाकों में सर्च अभियान चला रही है। दोनों के पोस्टर भी बॉर्डर के इलाकों में चस्पा करा दिए गए हैं। जल्द ही दोनों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी।
-प्रहलाद नारायण मीणा, एसएसपी नैनीताल।

वही उपद्रव के दिन मलिक की पत्नी, उसके दोनों बेटों की लोकेशन भी हल्द्वानी में मिली। पुलिस ने इन सभी के नंबर सर्विलांस पर लगाए हैं और साथ ही सीडीआर की जांच भी की जा रही है। पुलिस सूत्रों के अनुसार पुलिस को अहम सुराग हाथ लगे हैं। जल्द ही पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार कर सकती है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहां एमबीपीजी कॉलेज के प्रोफेसर साहब शराब पीकर पहुंचे कॉलेज, हुए निलंबित


मलिक के दो बेटे और दो बेटियां हैं। सभी की शादी हो चुकी है। पुलिस अब मलिक के दूसरे बेटे के खिलाफ भी सबूत एकत्र कर रही है। यह पता लगाया जा रहा है कि दूसरा बेटा उपद्रव में शामिल तो नहीं था। पुलिस जल्द ही दूसरे बेटे के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कर सकती है।


पुलिस ने बुधवार को डॉग स्क्वायड की मदद से मलिक के बगीचे के चारों ओर सर्च अभियान चलाया। साथ ही बनभूलपुरा की कई गलियों में डॉग स्क्वायड की मदद से जांच की।