उत्तराखण्डकुमाऊं,

हल्द्वानी- यहाँ युवक दिन में करता था पुताई, रात होते ही ‘कुछ और’ बन जाता था युवक, सीसीटीवी देख कर किया गिरफ्तार, तो पुलिस भी रह गई हैरान, पढ़े खबर

हल्द्वानी न्यूज़- हल्द्वानी शहर व आसपास के क्षेत्र में बाइक चोरी की घटनाओं से पुलिस ने पर्दा उठा दिया है। पकड़ा गया युवक पेशे से पेंटर है। दिन में वह घरों में रंगाई-पुताई का काम करता था, जबकि रात को बाइक चोरी करने के लिए निकल पड़ता था। आरोपी की निशानदेही पर पुलिस ने पांच दुपहिया वाहन भी बरामद किए हैं। युवक के विरुद्ध पहले से रामपुर में चोरी, आर्म्स एक्ट और एनडीपीएस एक्ट में मामले दर्ज हैं।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड (बड़ी खबर) यहाँ श्रद्धालुओ के साथ मारपीट करने वाले घोड़ा खच्चर संचालकों के विरुद्ध हुआ मुकदमा दर्ज, चार गिरफ्तार, देखें वीडियो, पढ़ें पूरी खबर।

 

एसएसपी प्रहलाद नारायण मीणा ने बताया कि बाइक चोरी की घटनाओं को लेकर मेडिकल चौकी इंचार्ज प्रवीण कुमार तेवतिया, हेड कांस्टेबल इसरार नवी, प्रहलाद सिंह और अनिल जौहरी जांच में जुटे थे। सभी घटनाओं के आसपास के सीसीटीवी फुटेज को चेक किया गया।

 

इसके बाद ग्राम अजीतपुर थाना सिविल लाइन रामपुर निवासी 23 वर्षीय साहिल को एफटीआई के पास से गिरफ्तार कर लिया गया। निशानदेही पर पांच बाइक भी बरामद हो गई।

 

बनभूलपुरा में किराये पर रहने वाले इस युवक से पूछताछ करने पर पता चला कि चोरी की बाइक को वह कुछ दिन छुपाकर रखता था। इसके बाद इसी से रैकी के लिए निकलता था।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड – रेल मंत्रालय से एक और नई ट्रेन की मिली सौगात, देखे टाइम टेबल

 

उत्तर प्रदेश में भी वह इस तरह की घटनाओं को अंजाम दे चुका है। वहीं, पुलिस अब मुरादाबाद में उस कनेक्शन को खंगालने में जुटी है जहां चोरी की गाड़ियां बेची जाती हैं।

 

बरामद गाड़ियां दिसंबर 2023 से लेकर इस साल सात मई तक गायब हुई थी। शिकायत करने वालों में नीलांचल कालोनी निवासी दीक्षित जोशी, प्रेम विहार निवासी भुवन पांडे, तेजपुर नेगी लालकुआं निवासी सचिंद्र कविदयाल, दमुवाढूंगा निवासी राहुल राजपूत और इंदिरानगर निवासी हसीन शामिल थे।

यह भी पढ़ें 👉  लालकुआँ- यहाँ बेटियों ने निभाया बेटे का फर्ज, दी पिता की चिता को मुखाग्नि, घाट में मौजूद लोगों की आंखें हुई नम यह देख

 

वही पांचों की बाइक बरामद कर ली गई है। वहीं, सफलता पर एसएसपी ने टीम के लिए 2500 इनाम की घोषणा भी की। वहीं, पूछताछ में पता चला कि मास्टर चाबी से साहिल एक झटके में दुपहिया के लाक को खोल देता था।