उत्तराखण्डकुमाऊं,

हल्द्वानी- यहाँ चाय बनाते समय अचानक फटा सिलेंडर, देवरानी-जेठानी समेत दो बच्चे गंभीर, आग की चपेट में आया तीन मंजिला मकान

हल्द्वानी न्यूज़- पीलीकोठी में चाय बनाते समय अचानक गैस सिलिंडर फट गया। सिलेंडर फटते ही गैस के रिसाव से भीषण आग धधक गई। आग की चपेट में आने से देवरानी-जेठानी समेत दो बच्चे गंभीर रूप से झुलस गए। चारों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती किया गया है। घटना के पौन घंटे बाद फायर ब्रिगेड ने आग बुझाई।

 

पीलीकोठी में श्याम गार्डेन में राम अवतार पाल परिवार के साथ रहते हैं। राम अवतार के छोटे बेटे सुभाष पाल ने बताया कि घर में शाम को पूजा-पाठ होनी थी। इसके लिए पूरा परिवार एकत्र हुआ था। शाम साढ़े चार बजे महिलाएं घर के निचले तल पर बनी रसोई में चाय बना रही थी। तभी अचानक सिलेंडर में आग लग गई। आग फैलते ही तेज धमाका हुआ और सिलेंडर फट गया।

यह भी पढ़ें 👉  कांग्रेसियों ने कहा आज ही के दिन 18 मार्च को कांग्रेस की हरीश रावत सरकार को गिराने का षडयंत्र भारतीय जनता पार्टी ने रचा था! ओर क्या कहा… पड़े पूरी खबर

 

आग की चपेट में आने से मंजू पाल, रूपा पाल व 12 वर्षीय आदित्य व 18 वर्षीय पीयूष गंभीर रूप से झुलस गए। चीख-पुकार सुन स्वजन दौड़े। आग की लपटों में फंसे चारों को बाहर निकालकर डा. सुशीला तिवारी अस्पताल भेजा गया।

 

सिलेंडर फटते ही आग पूरी रसोई में पानी की तरह फैल गई। देखते-देखते आग ने तीन मंजिला मकान को अपनी चपेट में ले लिया। गनीमत रही कि पड़ोसियों ने आग बुझाने में सहयोग किया। नहीं तो बड़ा हादसा होता। आग से परिवार को लाखों का नुकसान हुआ है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी – कालाढूंगी बनी नगर पालिका, अधिसूचना हुई जारी

 

आग पर काबू पाने के बाद पूरे घर में धुआं भर गया था। जिस घर में आग लगी वहां एक बुजुर्ग का दो महीने पहले हार्ट का आपरेशन हुआ था। धुआं लगने से उनकी तबीयत बिगड़ गई। देर शाम उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहाँ 11 साल के बच्चे को गुलदार ने बनाया अपना निवाला

 

आग रसाेई की खिड़कियों से बाहर निकलने लगी। लपटों को देखकर आसपास के लोग भी दहशत में आ गए थे। लोगों ने अपने-अपने घरों से बाल्टी में पानी लाकर आग को बुझाने का प्रयास किया। जिसमें वह काफी सफल भी रहे।

 

सीएफओ गौरव किरार के अनुसार, आग लगने की सूचना मिलते ही हमारी टीम मौके पर पहुंच गई थी। आग पर काबू पाया गया। आग से परिवार को लाखों का नुकसान हुआ है। जिसका आंकलन कर रिपोर्ट डीएम को भेजी जाएगी।