उत्तराखण्डकुमाऊं,गढ़वाल,

लोकसभा चुनाव 2024- आयोग का चाबुक, 72 घंटे में पकड़ी 60 लाख की अवैध शराब और नकदी, हरिद्वार में सबसे ज्‍यादा बरामद, उत्तराखंड में प्रवर्तन एजेंसियों की कार्यवाही

प्रदेश में लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लागू होने के 72 घंटे के भीतर ही 60 लाख रुपये कीमत की अवैध शराब, नकदी, मादक पदार्थ पकड़े गए हैं। मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. बीवीआरसी पुरुषोत्तम के निर्देशों पर सभी जिलों में आबकारी, पुलिस, आयकर समेत 20 से अधिक प्रवर्तन एजेंसियां निगरानी कर रही हैं।

इलेक्शन एक्सपेंडिचर मॉनिटरिंग के स्टेट नोडल अफसर मनमोहन मैनाली ने बताया, आदर्श आचार संहिता प्रभावी होने के बाद 16 मार्च से 18 मार्च तक विभिन्न प्रवर्तन एजेंसियों ने 60 लाख से अधिक कीमत के अवैध शराब, मादक पदार्थ, अनाधिकृत नकदी एवं अन्य सामग्री सीज की है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी:(बड़ी खबर)- कॉग्रेस को लगा उत्तराखंड में एक और झटका, दीपक बलुटिया ने दिया कॉंग्रेस पार्टी से इस्तीफा

बताया, एक मार्च से 18 मार्च तक यह आंकड़ा सात करोड़ 68 लाख से अधिक कीमत की अवैध शराब, मादक पदार्थ, अनाधिकृत नकदी एवं अन्य सामग्री सीज का था। बीते एक दिन में हुई बड़ी कार्रवाई में 11 मार्च को हरिद्वार में तीन करोड़ 34 लाख लाख रुपए कीमत के मादक पदार्थ सीज किए गए।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून- सरकार ने डेंगू की रोकथाम के लिए बनाया नया प्लान, अब एक ही जगह 10 मामले मिलने पर बनेंगे माइक्रो कंटेनमेंट जोन

चुनाव आयोग ने वर्तमान में चुनाव प्रक्रिया को सकुशल और निष्पक्ष संपन्न कराने के लिए चुनाव ड्यूटी में लगी प्रवर्तन एजेंसियों के लिए इलेक्शन सीजर मैनेजमेंट सिस्टम (ईएसएमएस) की व्यवस्था लागू की है। इस ईएसएमएस में आबकारी, पुलिस, आयकर विभाग समेत 20 से अधिक एजेंसियां जुड़ी हुई हैं। अधिकांश प्रवर्तन की कार्रवाई एवं सीजर रिपोर्ट को रोजाना रात 12 बजे तक दर्ज किया जा रहा है। इसी ईएसएमएस सॉफ्टवेयर में सभी जिलों की प्रवर्तन एजेंसियां अपनी कार्रवाई दर्ज कर रही है। जिसकी सीधी मॉनिटरिंग चुनाव आयोग और मुख्य निर्वाचन अधिकारी उत्तराखंड कार्यालय की ओर से की जा रही है।

यह भी पढ़ें 👉  लालकुआं में डायरिया के प्रकोप से 13 वर्षीय बालक की हुई दर्दनाक मौत, परिवार में मचा कोहराम