उत्तराखण्डकुमाऊं,गढ़वाल,

उत्तराखंड में लोकसभा चुनाव की तैयारी निर्वाचन विभाग ने करी तेज, 25 हजार से ज्यादा EVM तैयार, वीवीपैट मशीनों का हो रहा परीक्षण

  • उत्तराखंड में लोकसभा चुनाव की तैयारी तेज
  • मतदान के दौरान बैकअप के रूप में भी रखी जाएंगी मशीनें
  • कार्मिकों को जल्द दिया जाएगा ईवीएम चलाने का प्रशिक्षण

देहरादून न्यूज़- राज्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय ने चुनाव को लेकर अपनी तैयारियां तेज कर दी हैं। इस कड़ी में मतदान के लिए अभी 25 हजार से अधिक ईवीएम और 20 हजार से अधिक वीवीपैट मशीनों को तैयार किया जा रहा है। पहले चरण के लिए इनका परीक्षण भी हो चुका है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड परिवहन निगम के इस तारीख से बसों के थम जाएंगे पहिये, पढ़ लें ये खबर

प्रदेश में लोकसभा चुनाव के लिए इस वर्ष 11729 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। इन मतदान केंद्रों में ईवीएम मशीनों के जरिये ही मतदान किया जाना है। इसके साथ ही मतदाता ने जो बटन ईवीएम मशीन पर दबाया है, वोट उसी का गया है इसकी पुष्टि के लिए वीवीपैट मशीनों का इस्तेमाल किया जाना है।

चुनाव के दौरान ईवीएम मशीनें सही प्रकार से कार्य करें, यह सुनिश्चित करने के लिए अभी से इनका परीक्षण किया जा रहा है। सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को इन मशीनों के प्रथम चरण का परीक्षण करने के निर्देश दिए जा चुके हैं, ताकि यह देखा जा सके कि इनमें कोई खराबी तो नहीं है। इनका एक चरण का परीक्षण हो चुका है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी बनभूलपुरा हिंसा में गिरफ्तार हुए अभियुक्त की पूरी जानकारी

अब इन मशीनों का परीक्षण आचार संहिता लागू होने के बाद चुनाव पर्यवेक्षकों के समक्ष किया जाएगा। इसके बाद चुनाव से जुड़े पीठासीन अधिकारियों व सहायक पीठासीन अधिकारियों को इन मशीनों को संचालित करने के संबंध में प्रशिक्षण दिया जाएगा। मतदान से पहले इन मशीनों को मतदान केंद्रों तक रवाना कर दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहाँ वन विभाग की 34 एकड़ भूमि में अतिक्रमण कर खेती कर रहे गुज्जरो को दो हफ्ते के भीतर अतिक्रमण हटाने के निर्देश।

राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी बीवीआरसी पुरुषोत्तम का कहना है कि इस समय प्रदेश में तकरीबन 25 हजार ईवीएम हैं। इनका प्रथम चरण का परीक्षण किया जा चुका है। जल्द ही चुनाव ड्यूटी में लगाए जाने वाले कार्मिकों को इसे चलाने का परीक्षण दिया जाएगा।