उत्तराखण्डकुमाऊं,

मंडलायुक्त के निर्देश पर पांच विभागों की संयुक्त टीम ने घोड़ानाला क्षेत्र में 6 हैंडपंपों के पानी के लिए नमूने

लालकुआं न्यूज़- कुमाऊं कमिश्नर के निर्देश पर बिंदुखत्ता क्षेत्र में जल प्रदूषण के मानकों की जांच के लिए उत्तराखंड जल संस्थान, राजस्व विभाग, स्वास्थ्य विभाग और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की टीम ने घोड़ानाला क्षेत्र में 6 हैंडपंपों के पानी के नमूने प्राप्त किये।


मंडलायुक्त कुमाऊं दीपक रावत के निर्देश पर गठित की गई टीम में उत्तराखंड जल संस्थान, राजस्व विभाग, स्वास्थ्य विभाग, सेंचुरी पेपर मिल और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की टीम ने यहां घोड़ानाला क्षेत्र में आकर छह हैंडपंपों के पानी के नमूने लिए, इस दौरान उत्तराखंड जल संस्थान के अधिशासी अभियंतानंद किशोर, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी हरीश चंद्र जोशी, मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय नैनीताल के एनके कांडपाल, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लालकुआं के चिकित्साधिकारी डॉ लव पांडे और सेंचुरी पेपर मिल के महाप्रबंधक नरेश चंद्र एवं शिकायतकर्ता दरबान सिंह बिष्ट, लक्ष्मण सिंह मेहता, प्रकाश बिष्ट, सौरभ चुफाल सहित भारी संख्या में क्षेत्रवासी मौजूद थे।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड -(दुखद) यहां खौलते पानी में झुलसकर मासूम की मौत, तो उधर करंट लगने से तीन साल के मासूम की हुई मौत


विदित रहे कि कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत के दरबार में सामाजिक कार्यकर्ता भवन पोखरियाल एवं बिंदुखत्ता निवासी दरबान सिंह बिष्ट द्वारा शिकायत की गई थी कि घोड़ानाला क्षेत्र में जल प्रदूषण की स्थिति अत्यंत खराब होने के कारण लोगों के स्वास्थ्य में भारी गिरावट आ रही है।

यह भी पढ़ें 👉  सरकारी अस्पताल में घुसा गुलदार, मरीजों व स्टाफ की बाल-बाल बची जान, सीसीटीवी में कैद हुआ पूरा मामला

इसके बाद मंडलायुक्त ने उक्त टीम का गठन करते हुए जल संस्थान को निर्देश दिए कि वह आधा दर्जन हैंड पंप के नमूने प्राप्त कर अपनी लैब में उसकी जांच कराये।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहाँ बढ़ रहा आतंक, हाथी के साथ-साथ गुलदार की भी दहशत, काश्तकार हुए परेशान