उत्तराखण्डउधम सिंह नगरकुमाऊं,

उत्तराखंड- (बड़ी खबर) यहाँ विजलेंस की टीम की बड़ी कार्यवाही, अब इस अधिकारी को 70 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों किया गिरफ्तार

देवभूमि उत्तराखंड से इस वक्त की बड़ी खबर सामने आ रही है। यहाँ कुमाऊं के उधम सिंह नगर जिले के आबकारी अधिकारी को 70 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया है। वही विजिलेंस सूत्रों के अनुसार आज मंगलवार 2 जुलाई की दोपहर रुद्रपुर कलेक्ट्रेट परिसर स्थित कार्यालय से जिला आबकारी अधिकारी अशोक कुमार मिश्रा को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया गया है। बताया गया कि भ्रष्ट आबकारी अधिकारी के काशीपुर स्थित आवास पर भी छापेमारी की जा रही है।

 

भ्रष्टाचार पर विजिलेंस ने बड़ी कार्यवाही करते हुए जिला आबकारी अधिकारी उधमसिंहनगर को गिरफ्तार किया है। वही आरोपी अधिभार का परमिट जारी करने के एवज में 70 हजार रुपये रिश्वतखोरी में गिरफ्तार किया गया है। विजिलेंस आरोपी के दफ्तर और घर में छापेमारी कर जरूरी दस्तावेज खंगाल रही है। इधर, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के सख्त निर्देश पर भ्रष्टाचारियों पर लगातार कार्यवाही से भ्रष्टाचार में लिप्त अधिकारियों में हड़कंप मचा हुआ है।

यह भी पढ़ें 👉  लालकुआँ- (बड़ी खबर) कॉंग्रेस को लालकुआँ से लगा बड़ा झटका, इस दिग्गज कांग्रेसी ने पद एवं पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से दिया इस्तीफा

 

विजिलेंस से मिली जनाकारी के मुताबिक जिला आबकारी अधिकारी उधमसिंहनगर के खिलाफ लम्बे समय से शिकायत मिल रही थी। आरोप है कि अधिभार यानी शराब उठाने के परमिट को लेकर आबकारी अधिकारी ठेकेदारों को अक्सर टालमटोल कर रहा था।

 

इसी पर मिली शिकायत पर विजिलेंस ने जिला आबकारी अधिकारी अशोक मिश्रा को 70 हजार रुपये रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। विजिलेंस आरोपी के आवास और घर पर छापेमारी कर रही है। इधर, धामी सरकार भ्रष्टाचार पर निरंतर करारे प्रहार कर रही है। अब ऊधमसिंहनगर के जिला आबकारी अधिकारी अशोक कुमार मिश्रा को विजिलेंस की टीम ने 70 हजार रुपये की घूस लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया है।

 

वह बकाया अधिभार की आड़ में किसी ठेकेदार से रिश्वत की मांग कर रहे थे। कहा जा रहा था कि इसके बिना शराब के उठान का परमिट जारी नहीं किया जाएगा। ठेकेदार की शिकायत पर विजिलेंस ने जाल बिछाया और जिला आबकारी अधिकारी को दबोच लिया। इससे कुछ दिन पहले ही विजिलेंस देहरादून ने राज्य कर विभाग के सहायक आयुक्त शशिकांत दुबे को घूस लेते गिरफ्तार किया था। जानकारी यह भी सामने आ रही है कि आबकारी विभाग के तीन-चार अधिकारी और रडार पर हैं। इनके खिलाफ भी विजिलेंस के पास पुख्ता सुबूत हैं। जल्द ही इन पर भी शिकंजा कसा जा सकता है।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून- सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने सैन्य धाम में शहीदों के आंगन की पवित्र माटी का प्रतिस्थापन समारोह की तैयारियों को लेकर कार्यक्रम का स्थलीय निरीक्षण किया, दिये ये निर्देश।

 

विजिलेंस के सूत्रों के मुताबिक अधिभार जमा कराने में रियायत देने और शराब के उठान की मंजूरी देने के एवज में ऊधमसिंहनगर के जिला आबकारी अधिकारी अशोक कुमार मिश्रा रिश्वत की मांग कर रहे थे। इसके बिना ठेकेदार को मंजूरी न देने की बात समाने आ रही थी। ठेकेदार को घूस देना मंजूर नहीं था। लिहाजा, विजिलेंस में शिकायत दर्ज कराई गई। विजिलेंस के हल्द्वानी सेक्टर ने प्रारंभिक जांच के बाद शिकायत को सही पाते हुए ट्रैप टीम गठित की।

यह भी पढ़ें 👉  लालकुआं (बड़ी खबर) यहाँ सड़क हादसे में युवक की दर्दनाक मौत, परिवार में मचा कोहराम

 

मंगलवार दोपहर बाद जिला आबकारी अधिकारी मिश्रा को घूस की रकम लेते गिरफ्तार कर लिया गया। इसके बाद विजिलेंस की टीम ने मिश्रा के घर पर भी छापेमारी शुरू की है। जिसमें उनकी संपत्ति के दस्तावेज खंगाले जा रहे हैं। विजिलेंस की इस कार्यवाही से आबकारी विभाग में हड़कंप की स्थिति है। अन्य विभागों के घूसखोर अधिकारी और कर्मचारी भी सहमे हुए हैं।

 

बताया जा रहा है कि विजिलेंस की लिस्ट में अभी कई ऐसे नाम और हैं, जिन पर आने वाले दिनों में एक्शन होगा। इस तरह की कार्यवाही से संदेश मिलता है कि सीएम धामी भ्रष्टाचार की शिकायतों पर कड़ा रुख अपना रहे हैं।