उत्तराखण्डगढ़वाल,

उत्तराखंड- गढ़वाल कांग्रेस मुक्त, अब टिहरी सीट पर कोशिश तेज, एक और विधायक पर भाजपा की निगाह

टिहरी गढ़वाल में दो पूर्व विधायकों के भाजपा में शामिल होने के झटके के बाद बदरीनाथ सीट के विधायक राजेंद्र भंडारी ने भी कांग्रेस का साथ छोड़ दिया। विधायक के इस्तीफे से कांग्रेस स्तब्ध है और भाजपा गढ़वाल संसदीय सीट के कांग्रेस मुक्त होने से उत्साहित है। गढ़वाल सीट में 14 विधानसभा सीटों में बदरीनाथ ही अकेली कांग्रेस के पास थी।

तीन बार के विधायक भंडारी चमोली जिले की राजनीति में प्रभाव रखते हैं। जिला पंचायत सीट पर उनके परिवार का राज रहा है। अध्यक्ष पद पर उनकी पत्नी रजनी भंडारी काबिज हैं। हालांकि टेंडर प्रक्रिया में गड़बड़ी को लेकर भंडारी और सत्तारूढ़ भाजपा में काफी कड़वाहट रही है। अब भाजपा में उनके आने के बाद मिठास घुलनी तय है।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल उधम सिंह नगर के सांसद अजय भट्ट ने चीन में होने वाली पैरा एशियन गेम्स में भाग लेने जाने वाली हल्द्वानी निवासी निर्मला मेहता को सम्मानित कर दी शुभकामनाए

भंडारी ने तब भी कांग्रेस नहीं छोड़ी थी, जब सतपाल महाराज भाजपा में गए थे और उनका बेहद करीबी होने के नाते सियासी हलकों में भंडारी के भी कांग्रेस को अलविदा कहने की चर्चाएं गर्म थीं। 2022 का चुनाव कांग्रेस से लड़े। भंडारी को कांग्रेस से तोड़ लेने और भाजपा में जोड़ लेने अभियान में जुटे।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट कहते हैं, भंडारी से लंबी मंत्रणा हुई और वह भाजपा की विचारधारा से जुड़ने को तैयार हुए। बता दें कि भट्ट को बदरीनाथ सीट से भंडारी ने ही हराया था। भट्ट राज्यसभा में पहुंच चुके हैं। इसलिए बदरीनाथ सीट पर भंडारी ही पार्टी के अगले उम्मीदवार होंगे।प्रदेश अध्यक्ष ने मुताबिक जो भी विधायक अपनी पार्टी छोड़ कर भाजपा में आएगा उसे पार्टी उपचुनाव में उम्मीदवार बनाएगी। लिहाजा बदरीनाथ उपचुनाव में भंडारी का भाजपा के टिकट पर उपचुनाव लड़ना तय है।

यह भी पढ़ें 👉  यहाँ जंगल में मिला प्रतिबंधित 350 किलो गोमांस, आरोपी हुए मौके से फरार, पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा

गढ़वाल के साथ-साथ भाजपा ने टिहरी लोस सीट पर भी ऐसा अभियान छेड़ दिया है। गंगोत्री में कांग्रेस के पूर्व विधायक विजयपाल सिंह सजवाण व पुरोला के पूर्व विधायक मालचंद भाजपा की सदस्यता ले चुके हैं। टिहरी जिले के एक और कांग्रेस विधायक को पार्टी में शामिल कराने की चर्चाएं काफी समय से गर्म है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी-(बड़ी खबर) भारी बारिश के चलते हल्द्वानी की सभी नेहरे ओवरफ्लो हुई, रोडो पर आया पानी, अब तो डराने लगी बारिश, देखे वीडियो।

सीएम पुष्कर सिंह धामी शनिवार को अचानक दिल्ली पहुंचे। उनके दिल्ली दौरे का राज कांग्रेस विधायक राजेंद्र भंडारी के कांग्रेस में शामिल होने के बाद खुला। नई दिल्ली में पार्टी प्रभारी दुष्यंत गौतम व अन्य केंद्रीय नेताओं से सीएम ने चुनाव प्रचार के लिए मार्गदर्शन लिया। सोमवार को उनकी वापसी होगी।