उत्तराखण्डकुमाऊं,गढ़वाल,

उत्तराखंड- महिलाओं से अभद्रता व अनैतिक कार्यों में अगर पुलिसकर्मियों का नाम सामने आया तो होगा मुकदमा, डीजीपी ने जारी किए आदेश

देहरादून न्यूज़- महिलाओं से अभद्रता व अनैतिक कार्यों में अगर पुलिस की संलिप्तता सामने आई, तो किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा। ऐसे पुलिसकर्मियों के खिलाफ पुलिस महानिदेशक अभिनव कुमार ने मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए हैं। इस संबंध में उन्होंने सभी जिला पुलिस प्रभारियों को आदेश जारी किए हैं।

इसी क्रम में पंतनगर एसएचओ के खिलाफ महिला से अभद्रता के मामले में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। जबकि, दो दरोगाओं के खिलाफ रुद्रप्रयाग में कार्यवाही की गई है। बता दें कि पिछले दिनों पंतनगर एसएचओ का एक ऑडियो वायरल हुआ था। एसएचओ एक महिला से अभद्र भाषा में बात कर रहा था। मामला जब उच्चाधिकारियों के संज्ञान में आया तो एसएचओ को निलंबित कर दिया गया।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड सरकार ने बिजली सुरक्षा व्यवस्था में किया बड़ा बदलाव, अब नहीं हो सकेगी अनदेखी, काम में आएगी तेजी

 

पुलिस की छवि होती है धूमिल: अभिनव कुमार
उस वक्त भी डीजीपी अभिनव कुमार ने सभी जिलों को कड़े निर्देश जारी किए थे। अब दो मामले रुद्रप्रयाग में सामने आए हैं। यहां पर महिलाओं से अभद्रता के आरोप में केदारनाथ चौकी प्रभारी मंजुल रावत और गुप्तकाशी में तैनात एक दरोगा को सस्पेंड कर दिया गया है। ये मामले सामने आने के बाद अब डीजीपी ने सभी जिला पुलिस प्रभारियों को आदेश जारी किए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड-(बड़ी खबर) यहां डीआईजी ने किए 6 दरोगा के तबादले

 

डीजीपी अभिनव कुमार ने कहा कि महिलाओं से दुर्व्यवहार और अनैतिक कार्यों में किसी भी पुलिसकर्मी की संलिप्तता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। महिला सुरक्षा उत्तराखंड पुलिस की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक है। पुलिसकर्मियों की यदि इसमें संलिप्तता सामने आती है तो इससे पुलिस की छवि धूमिल होती है। यही नहीं इससे आम जनमानस और महिलाओं में प्रतिकूल संदेश भी जाता है। पुलिस की कार्यप्रणाली भी प्रभावित होती है। लिहाजा, अब सीधे आरोपियों के खिलाफ विभागीय कार्यवाही के साथ-साथ जांच के बाद मुकदमा भी दर्ज किया जाए।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंडः राज्य में जल्द ही खुलेंगे चार नए सैनिक स्कूल और पांच केंद्रीय विद्यालय, देखिए जगहों के नाम