उत्तराखण्डउधम सिंह नगरकुमाऊं,

उत्तराखंड- यहाँ दो शव फंदे से लटके मिलने से मचा हड़कंप

रुद्रपुर ट्रांजिट कैंप थाना क्षेत्र में दो अलग-अलग जगहों पर संदिग्ध परिस्थितियों में दो लोग फंदे पर लटके मिले। पुलिस को शव के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। प्रथम दृष्टया दोनों के आत्महत्या करने की अंदेशा जताई जा रही है।

पुलिस के अनुसार मूल रूप से ग्राम केसरपुर थाना बिथरी चैनपुर बरेली निवासी महेंद्र उम्र 25 वर्ष ट्रांजिट कैंप के आजादनगर में किराए में रहकर मजदूरी करता था। छह मार्च को उसका पड़ोस में रहने वाले दूर के रिश्तेदार के साथ भांजी की फोटो को लेकर विवाद हो गया था। बृहस्पतिवार देर शाम महेंद्र अपने टिनशेड के कमरे में फंदे पर लटका मिला था। डायल 112 पर आई सूचना पर एसआई कविंद्र शर्मा फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और आसपास के लोगों की मदद से शव को फंदे से उतारकर कब्जे में लिया।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून- यहाँ प्रेस वार्ता में बोले सीएम धामी, जमीनों के रिकॉर्ड में जालसाजी करने वालों पर होगी सख्त कार्यवाही।

वही परिजनों ने पुलिस को बताया कि महेंद्र नशा भी करता था। वह आठ भाई बहनों में सबसे छोटा था। सूचना पर मृतक के भाई बुद्धसेन, पप्पू भी मोर्चरी पहुंच गए थे।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: प्रदेश सरकार ने माल एवं सेवाकर (जीएसटी) में पंजीकृत व्यापारियों को 10 लाख का दुर्घटना बीमा की दी सुविधा, सरकार ने पिछले साल बढ़ाई थी राशि

वहीं वार्ड नंबर सात शिवनगर में हरेंद्र उम्र 38 वर्ष अपने परिवार के साथ रहता था। बृहस्पतिवार शाम उसकी पत्नी कहीं गई थी। घर पर उसकी बेटियां थीं। इस दौरान हरेंद्र कमरे में फंदे पर लटका मिला। उसकी बेटियों ने पिता को फंदे पर लटका देख शोर मचाया, जिसके बाद आसपास के लोग मौके पर पहुंच गए। सूचना पर एसआई गणेश पांडे और विकास रावत ने मौके पर पहुंचकर शव को फंदे से उतरवाकर कब्जे में ले लिया।

यह भी पढ़ें 👉  BIG BREAKING- उत्तराखंड सरकार ने इस जिले के जिला पंचायत अध्यक्ष को पद से हटाया देखिए आदेश

परिजनों ने पुलिस को बताया कि हरेंद्र नशा करता था और पत्नी के साथ मारपीट भी करता था। वह मजदूरी करता था। एसपी सिटी मनोज कत्याल ने बताया कि दोनों मामलों में सुसाइड नोट नहीं मिला है। प्रथम दृष्टया मामला आत्महत्या का है और पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत की असल वजह का पता चलेगा। पुलिस दोनों मामलों के कारणाें की जांच कर रही है।