उत्तराखण्डचारधाम यात्रा

चारधाम यात्रा 2024- शुभ मुहूर्त में खुले केदारनाथ धाम के कपाट, आज गंगोत्री-यमुनोत्री के द्वार भी खुलेंगे

  • केदारनाथ धाम के कपाट खुलते समय धाम में मौजूद रहे हजारों भक्‍त।
  • बद्री केदार मंदिर समिति द्वारा केदारनाथ धाम भव्य रूप से सजाया।
  • सीएम पुष्‍कर सिंह धामी भी रहे कपाट खुलने पर मौजूद

केदारनाथ, गंगोत्री व यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के साथ चारधाम यात्रा शुरू हो जाएगी। आज विधि-विधान से सुबह सात बजे केदारनाथ धाम के कपाट श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए खुल गए हैं। इस दौरान हेलिकॉप्टर से पुष्प वर्षा की गई। हजारों श्रद्धालुओं के जयकारों के साथ बाबा केदार की पंचमुखी डोली केदारनाथ पहुंची है।

 

कल देर शाम तक 16 हजार से अधिक श्रद्धालु भी पहले दिन बाबा केदार के दर्शन के लिए केदारपुरी पहुंच गए थे। आज केदारनाथ धाम के कपाट खुलने के बाद यमुनोत्री धाम के कपाट सुबह 10.29 बजे और गंगोत्री धाम के कपाट 12.25 बजे खुलेंगे। बदरीनाथ धाम के कपाट 12 मई को सुबह छह बजे खुलेंगे।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहाँ दरोगा ने मारा युवक को थप्पड़, जांच में थप्पड़ खाने वाला युवक निकला गुंडा, देखे वीडियो

 

बृहस्पतिवार सुबह बाबा केदार की पंचमुखी डोली गौरीकुंड से केदारनाथ धाम के लिए रवाना हुई। अपराह्न तीन बजे केदारनाथ धाम पहुंची। बाबा केदार की डोली के साथ हजारों श्रद्धालुओं भी केदारपुरी पहुंच गए। इस दौरान श्रद्धालुओं के जयकारों और सेना के बैंड की धुन से केदारनाथ धाम गूंज उठा। बदरीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय ने पंचमुखी डोली के केदारनाथ धाम में पहुंचने पर अगवानी की। मां गंगा की डोली मुखबा से गंगोत्री धाम के रवाना हो गई है। शुक्रवार सुबह डोली धाम पहुंचेगी। वहीं, मां यमुना की डोली शुक्रवार सुबह खरशाली गांव से धाम के लिए रवाना होगी।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून- यहाँ पहाड़ी से गिरे बोल्डर की चपेट आया वाहन, दो की मौत, चार घायल।

 

केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम को फूलों से भव्य रूप से सजाया गया है। केदारनाथ मंदिर को 20 क्विंटल से अधिक फूलों से सजाया गया है। धाम में दर्शन के लिए इस बार श्रद्धालु आस्था पथ से जाएंगे। आस्था पथ पर बैठने के लिए बेंच की व्यवस्था है। साथ ही बारिश व बर्फबारी से बचने के लिए रेन शेल्टर बनाया गया।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहां पति ने अपनी पत्नी की धारदार हथियार से करी निर्मम हत्या

 

चारधाम यात्रा के लिए अब तक 22 लाख से अधिक श्रद्धालु पंजीकरण करा चुके हैं। पंजीकरण के आंकड़े को देखते हुए इस बार भी प्रदेश सरकार को चारधाम यात्रा में श्रद्धालुओं का नया रिकॉर्ड बनने की उम्मीद है।

 

धाम तीर्थयात्रियों की संख्या
केदारनाथ 19,61,025
बदरीनाथ  18,34,729
गंगोत्री 9,05,174
यमुनोत्री 7,35,244
हेमकुंड साहिब 1,77,463
कुल संख्या 56,13,635