उत्तराखण्डगढ़वाल,

देहरादून- यहाँ IAS गौरव कुमार को बीजेपी विधायक महेश जीना ने बोले अपशब्द, गाली-गलौज के भी लगे आरोप, देखिए वीडियो

देहरादून न्यूज़- नगर निगम के पुराने ट्रेंचिंग ग्राउंड में कूड़ा निस्तारण का टेंडर परिचित को न मिलने से नाराज सल्ट (अल्मोड़ा) भाजपा विधायक महेश जीना और आईएएस गौरव कुमार के बीच हुई बहस का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

नगर आयुक्त गौरव कुमार के कक्ष में घुसकर उनसे अभद्रता कर रहे सल्ट विधायक महेश जीना का वीडियो घटना के कुछ देर बाद ही इंटरनेट मीडिया पर प्रसारित होने लगा। वीडियो में विधायक न केवल नगर आयुक्त के साथ अभद्रता करते हुए नजर आ रहे, बल्कि उनसे तू-तड़ाक भी कर रहे। विधायक ने मुख्यमंत्री से आयुक्त की बात कराने और सबक सिखाने की धमकी भी दी। इंटरनेट मीडिया पर प्रसारित इस वीडियो को लेकर लोग विधायक के विरुद्ध प्रतिक्रिया देते रहे।

नगर निगम में आने पर विधायक महेश जीना और उनके समर्थकों ने पहले कर्मचारियों को दबंगई दिखाई। सहायक नगर आयुक्त एसपी जोशी के कक्ष में जाकर उनकी अनुपस्थिति में अन्य कर्मचारियों को धमकाया। वरिष्ठ सहायक पवन थापा ने बताया कि विधायक समर्थकों की दबंगई के चलते कर्मचारी भयभीत हो अपने कक्ष से बाहर भाग गए। इसके बाद विधायक व उनके समर्थक नगर आयुक्त के कक्ष में घुस गए। घटना की सूचना पर जब सभी कर्मचाारी एकत्रित हुए, तब विधायक का विरोध किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- (दुःखद) यहाँ हुआ दर्दनाक सड़क हादसा, स्कूटी-बाइक की आमने-सामने हुई भिड़ंत, एक महिला की मौत, तीन गंभीर।

भाजपा विधायक के हंगामे और नगर आयुक्त से अभद्रता के विरोध में नगर निगम के कर्मचारी मुखर हो गए हैं। घटना के बाद ही कर्मचारियों ने निगम में अनिश्चितकालीन हड़ताल का एलान कर दिया। नगर विकास कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष नाम बहादुर और सफाई कर्मचारी संघ के नेताओं के आह्वान पर निगम के सभी अनुभागों पर ताला जड दिया गया। उन्होंने सल्ट विधायक के विरुद्ध आक्रोश व्यक्त करते हुए चेतावनी दी कि जब तक विधायक माफी नहीं मांगते हड़ताल जारी रहेगी। नाम बहादुर ने कहा कि विधायक ने नगर आयुक्त और कर्मचारियों के साथ अभद्र भाषा का प्रयोग किया, उससे कर्मचारियों के बीच असुरक्षा का भाव उत्पन्न हो गया है। हड़ताल के कारण आज से शहर की सफाई व्यवस्था, पथ प्रकाश व्यवस्था, निर्माण के काम, हाउस टैक्स, जन्म-मृत्यु प्रमाण-पत्र बनाने आदि सभी काम आज से ठप रहेंगे। कर्मचारियों ने कहा कि घर-घ कूड़ा उठान करने वाली निजी कंपनियों की गाड़ियों का संचालन भी नहीं होने दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड-(दुःखद) नए साल के पहले दिन बहन से मिलने आ रहे भाई की सड़क दुर्घटना में चली गई जान

महेश जीना ने कई आरोप लगाते हुए कहा कि नगर निगम देहरादून में टेंडर प्रक्रिया में निजी कंपनियों के साथ नगर आयुक्त की मिलीभगत चल रही है। वह अपनी पसंद की कंपनी कोकाम देते हैं। मेरे परिचित की कंपनी को अयोग्य क्यों करार दिया गया, मैं इसका पता करने नगर निगम गया था। वहां सरकारी कर्मचारियों की कुर्सी पर उसी निजी कंपनी का कर्मचारी बैठा हुआ था, जिसे टेंडर मिला है। जब मैं नगर आयुक्त से टेंडर से संबंधित जानकारी लेने गया तो नगर आयुक्त ने जानकारी देने से इनकार कर दिया। हम सत्ताधारी दल के विधायक हैं और यह हमारी जिम्मेदारी बनती है कि सरकार के धन का कहीं भी दुरुपयोग न हो।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी से पिथौरागढ़, मुनस्यारी, चंपावत के एक दिन में दो चक्कर लगाएगा हेलीकॉप्टर, जानें किराया

कुछ विपक्षी मुझे बदनाम करने के लिए आरोप लगा रहे कि जिस कंपनी के लिए मैं नगर निगम गया था, वह मेरे बेटे की है। मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि मेरे बेटे का कंपनी से कोई भी लेना-देना नहीं है। कंपनी मेरे परिचित की है। अगर कोई यह साबित कर दे कि कंपनी मेरे बेटे की है तो मैं कल ही अपना इस्तीफा दे दूंगा।– महेश जीना, विधायक सल्ट (अल्मोड़ा)