स्वास्थ्य

हेल्थ- शरीर के इन 5 हिस्सों में होता है थायराइड बढ़ने पर सबसे ज्यादा दर्द, समय पर पहचानकर कराएं अपना इलाज, पढ़े पूरी खबर

थायराइड हमारे गर्दन के सामने एक छोटी, तितली के आकार की ग्रंथि है। यह हमारे शरीर में हार्मोन बनाने का कार्य करता है, जिससे शरीर द्वारा ऊर्जा के उपयोग के तरीके को नियंत्रित किया जाता है। शरीर में थायराइड हार्मोन असंतुलित होने पर थायराइड की समस्या होती है।

थायराइड मुख्य रूप से दो तरह के होते हैं, जिसमें हाइपोथायराइड और हाइपरथायराइड शामिल है। इन दोनों ही स्थितियों में मरीजों को कई तरह की समस्या होती है। थायराइड हार्मोन असंतुलित होने पर शरीर के कई हिस्सों में दर्द होने लगता है। इस लेख में हम आपको थायराइड में कहां-कहां दर्द होता है, इस विषय के बारे में विस्तार से बताएंगे। आइए जानते हैं इस बारे में-

थायराइड में कहां-कहां दर्द होता है?

शरीर मे थायराइड हार्मोन असंतुलित होने पर कई हिस्सों में दर्द महसूस होता है, इसका मुख्य कारण थायराइड हार्मोन असंतुलित होने पर हमारी हड्डियां काफी ज्यादा कमजोर होने लगती हैं। ऐसी स्थिति में शरीर में दर्द होना काफी कॉमन है। आइए जानते हैं थायराइड में कहां-कहां दर्द की परेशानी देखी जा सकती है?

यह भी पढ़ें 👉  जानें भारतीय क्रिकेटर ऋषभ पंत को लेकर बीसीसीआई का क्या है प्लान

1. गर्दन में दर्द

थायराइड की परेशानी बढ़ने पर सबसे पहले गर्दन में दर्द की परेशानी महसूस होती है। दरअसल, थायराइड ग्रंथि गर्दन के सामने ही होती है। ऐसे में अगर इसमें किसी तरह की गड़बड़ी हो, तो यह गर्दन के एरिया को सबसे अधिक प्रभावित करती है। इसकी वजह से न सिर्फ गर्दन में दर्द होता है, बल्कि गले के आसपास काफी ज्यादा सूजन भी होने लगती है।

2. जबड़े और कान में दर्द

थायराइड हार्मोन असंतुलित होने की स्थिति में मरीजों का दर्द गर्दन से धीरे-धीरे जबड़ों और कानों तक पहुंचता है। ऐसी स्थिति को लंबे समय तक नजरअंदाज न करें। तुरंत डॉक्टर से उचित सलाह लें।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- (कोरोना अपडेट) राज्य में कोरोना का कहर फिर से बढ़ने लगा, आज आंकड़ा हुआ डेढ़ सौ के पार, एक कोरोना संक्रमित की मौत

3. जोड़ों में दर्द

सबस्यूट थायरॉयडिटिस की स्थिति में मरीजों का दर्द धीरे-धीरे जोड़ों तक पहुंच जाता है। मुख्य रूप से यह घुटनों का दर्द काफी ज्यादा बढ़ा देता है। इस स्थिति में डॉक्टर आपको कैल्शियम की कमी को दूर करने वाली दवाएं लेने की सलाह देते हैं।

4. पैरों में दर्द

थायराइड हार्मोन का स्तर बढ़ने के कारण पैरों और तलवों में भी मरीजों को दर्द महसूस होता है। मुख्य रूप से लंबे समय तक चलने या फिर खड़े होने पर काफी ज्यादा दर्द और तलवों में जलन जैसा महसूस होता है।

5. मांसपेशियों में दर्द

थायराइड के मरीजों में न सिर्फ सूजन की परेशानी देखी जाती है, बल्कि इसकी वजह से मांसपेशियों में भी काफी ज्यादा दर्द होता है। अक्सर मरीज मांसपेशियों के दर्द से परेशान रहते हैं। अगर आपको भी मांसपेशियों में दर्द हो रहा है, तो ऐसे में एक बार अपने हेल्थ एक्सपर्ट की सलाह लें।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून-(बड़ी खबर) कोरोना फिर देने लगा टेंशन, 30 नए मामले, 2 की मौत

थायराइड दर्द से बचाव के उपाय क्या हैं?

थायराइड हार्मोन असंतुलित होने पर शरीर में होने वाले दर्द से बचने के लिए आप कुछ बचाव के टिप्स आजमा सकते हैं, जैसे-

1- आयोडीन युक्त आहार का करें सेवन। 2- नियमित रूप से योग की लें मदद। 3- रोजाना 10 से 15 मिनट की करें वॉकिंग। 4- सूजन बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थों से रहें दूर। 5- सोयाबीन, फूलगोभी,पत्तागोभी, ब्रोकली जैसे आहार से रहें दूर। 6- तेल-मसालों का न करें सेवन, इत्यादि।

थायराइड हार्मोन असंतुलित होने की स्थिति में शरीर के कई हिस्सों में दर्द हो सकता है। ऐसी स्थिति को नजरअंदाज करने के बजाय तुरंत डॉक्टर से सलाह लें।