स्वास्थ्य

हेल्थ- ये 10 आदतें खराब कर सकती है किडनी आपकी, शरीर बन जाता है बीमारियों का घर

  • अगर इन अनहेल्दी आदतों को छोड़ दिया जाये तो किडनी की गंभीर बीमारियों से बचा जा सकता है।

किडनी के काम में गड़बड़ी आने से ओवरऑल हेल्थ पर भी असर पड़ता है। क्योंकि, हम पूरे दिन में जो कुछ भी खाते या पीते हैं उनमें से हानिकारक तत्वों को छानकर बाहर निकालने और शरीर को पोषक तत्व (nutrients) प्राप्त करने में किडनी मदद करती है। भोजन के साथ कुछ टॉक्सिंस (toxins) भी शरीर में रोज पहुंचते हैं और ये टॉक्सिंस शरीर में जमा हो जाएं तो किडनी के साथ-साथ अन्य ऑर्गन्स को भी डैमेज कर सकते हैं। किडनियां जब इन टॉक्सिंस को शरीर से बाहर नहीं निकाल पातीं तो शरीर में बीमारियां बढ़ने लगती हैं।

नेफ्रोलॉजिस्ट और किडनी ट्रांसप्लांट एक्सपर्ट डॉ.असीम थंबा ये बता रहें हैं कुछ ऐसी आदतों के बारे में किडनी को कमजोर कर सकती हैं और इनकी वजह से किडनी की फंक्शनिंग पर भी बुरा असर भी पड़ता है। डॉ. असीम थंबा के अनुसार अगर इन अनहेल्दी आदतों को छोड़ दिया जाए और व्यक्ति अपनी लाइफस्टाइल में सुधार करे तो किडनी की गम्भीर बीमारियों से बचा जा सकता है।

यह भी पढ़ें 👉  जनता की समस्याओं का त्वरित गति से होगा निदान- डॉ मोहन सिंह बिष्ट

किडनी को बर्बाद कर सकती है आपकी ये आदते

बहुत अधिक नमक खाना-

रोज के खाने में नमक का इस्तेमाल कम मात्रा में ही होना चाहिए। लेकिन, अगर नमक का सेवन बहुत ज्यादा किया जाए तो इससे किडनियों को नुकसान हो सकता है। पैकेटबंद चिप्स, फास्ट फूड, जंक फूड और चाट-पकौड़ों का स्वाद बढ़ाने के लिए अक्सर उनमें नमक और अन्य प्रीजर्वेटिव्स का इस्तेमाल किया जाता है। यही अतिरिक्त सोडियम आपके शरीर में पहुंचकर किडनियों को डैमेज कर सकता है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड (बड़ी खबर) यहाँ स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन की झोलाछाप डॉक्टर और क्लीनिक पर ताबड़तोड़ कार्यवाही, 5 क्लीनिक किये सील....

यूटीआई का इलाज ना करना-

यूरीनरी ट्रैक्ट्स से जुड़े इंफेक्शन्स की तरफ ध्यान ना देना और उसका इलाज ना कराने से किडनी में भी इंफेक्शन हो सकता है। इससे किडनी की आंतरिक संचरना को भी नुकसान पहुंच सकता है।

शराब पीना-

हेवी ड्रिंकिग या बहुत अधिक मात्रा में अल्कोहल का सेवन करने से शरीर में पानी की कमी हो सकती है। इससे हाई ब्लड प्रेशर और लिवर डैमेज भी हो सकता है। ये सभी किडनी को नुकसान पहुंचा सकती हैं।

स्मोकिंग-

धूम्रपान करने की आदत से ब्लड वेसल्स को नुकसान पहुंचता है। इससे किडनी की तरह रक्त का बहाव कम हो जाता है। ब्लड की सप्लाई कम होने से किडनी की बीमारियों का रिस्क बढ़ जाता है।

कम पानी पीना-

डिहाइड्रेशन या शरीर में पानी की कमी के कारण किडनियों के लिए टॉक्सिंस को शरीर से बाहर निकाल पाने में दिक्कत आती है। इससे किडनियों को नुकसान पहुंच सकता है।

यह भी पढ़ें 👉  स्वास्थ्य विभाग के छापामार दल ने लालकुआं और बिंदुखत्ता के निजी क्लीनिकों में की ताबड़तोड़ छापेमारी, 3 क्लीनिक किए सीज, क्लिनिको के संचालक तीनों झोलाछाप चिकित्सकों का किया चालान

डायबिटीज व ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करना-

हाई ब्लड शुगर लेवल और हाई ब्लड प्रेशर लेवल अगर अनियंत्रित रहें तो इससे किडनी की बीमारियों का खतरा बढ़ सकता है। 

बार-बार पेनकिलर खाना-

बिना डॉक्टर से पूछे अगर आप बार-बार और जल्दी-जल्दी पेनकिलर्स का सेवन करते हैं तो इससे किडनी को नुकसान पहुंच सकता है।

खराब डाइट-

फैट्स, शक्कर, प्रोसेस्ड फूड्स वाली डाइट से मोटापा बढ़ता है। अनहेल्दी डाइट से हाई बीपी लेवल और डायबिटीज का रिस्क भी बढ़ सकता है। ये सभी चीजें किडनी डिजिज का रिस्क बढ़ा सकता हैं।

कसरत ना करना-

बैठकर काम करना, कसरत ना करना और सुस्त रहने की आदत किडनी को डैमेज कर सकती है।