उत्तराखण्डकुमाऊं,गढ़वाल,

उत्तराखंड के लिए आफत बनी बारिश, हर स्थिति पर सीएम धामी की नजर, सरकारी तंत्र अलर्ट मोड पर

  • मुख्यमंत्री ने अधिकारियों संग बैठक कर भारी बारिश के बाद प्रदेश की जानी स्थिति

देहरादून न्यूज़- उत्तराखंड में मानसून की बारिश से इन दिनों आम जनजीवन अस्त-व्यस्त है। भारी बारिश से कुमाऊं से लेकर गढ़वाल तक सड़कें अवरुद्ध हैं।

नदियां भी उफान पर हैं। वहीं कुमाऊं मंडल के सभी छह जिलों के सभी विद्यालय बंद हैं जबकि गढ़वाल मंडल के पौड़ी व रुद्रप्रयाग जिले के सभी स्कूलों में छुट्टी कर दी गई है। कुल मिलाकर मानसून की बारिश उत्तराखंड के लिए आफत बन गई है।

यह भी पढ़ें 👉  (छात्रसंघ चुनाव अपडेट)-प्रदेश में इस तारीख को होंगे छात्र संघ चुनाव, जानने के लिए यहां क्लिक करें

मानसून में कहीं किसी को कोई परेशानी न हो, इसके लिए राज्य के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी हर स्तर पर नजर रखे हुए हैं। मुख्यमंत्री धामी ने शनिवार को कैंप कार्यालय पर गढ़वाल कमिश्नर और वर्चुअल माध्यम से जुड़े कुमाऊं कमिश्नर के साथ बैठक कर भारी बारिश के बाद प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर परिस्थिति की जानकारी ली।

यह भी पढ़ें 👉  हल्दूचौड़ चौकी पुलिस टीम द्वारा जिलाबदर का उल्लघन करने पर एक अभियुक्त को किया गिरफ्तार, पढ़े पूरी खबर

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि आपदा की स्थिति में राहत एवं बचाव कार्य के लिए जिला और तहसील प्रशासन को 24 घंटे अलर्ट पर रखा जाए। जलभराव की स्थिति में आपदा प्रभावितों के रहने-खाने का उचित प्रबंधन किया जाए।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल- यहाँ जंगल मे लकड़ी बीनने गई महिला को खींचकर घने जंगल में ले गया बाघ, शव की तलाश में सर्च ऑपरेशन जारी

धामी ने कहा कि तहसील स्तर पर स्थापित कंट्रोल रूम से भी लगातार संपर्क बनाकर रखा जाए। साथ ही सड़कों के बंद होने की स्थिति में उन्हें तत्काल खोलने की व्यवस्था की जाए। मौसम विभाग की चेतावनी एवं स्थानीय मौसम संबंधी गतिविधियों के आधार पर ही स्कूलों को खोलने और बंद करने का निर्णय लेने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया।