उत्तराखण्डकुमाऊं,

उत्तराखंड के दिवंगत प्रसिद्ध लोक गायक प्रहलाद मेहरा पंचतत्व में विलीन

लालकुआं न्यूज़- उत्तराखंड के दिवंगत प्रसिद्ध लोक गायक प्रहलाद मेहरा उम्र 53 वर्ष की आज बिंदुखत्ता से गमगीन माहौल में शवयात्रा निकाली गई, तथा रानीबाग स्थित चित्रशिला घाट में अंतिम संस्कार किया गया, जिसमें महाराष्ट्र के पूर्व राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी समेत कई पर्वतीय क्षेत्र के विधायकों एवं गणमान्य लोगों ने घाट में पहुंचकर श्रद्धांजलि अर्पित की।

गत दिवस हृदय गति रुकने से अकाल मौत के ग्रास बने 53 वर्षीय प्रसिद्ध लोक गायक प्रहलाद मेहरा के निधन से जहां समूचे उत्तराखंड में शोक की लहर व्याप्त हो गई, वहीं बिंदुखत्ता क्षेत्र में उनके असमय जाने का सभी को गहरा सदमा लगा है। गत दिवस से आज तक सैकड़ो की संख्या में ग्रामीणों की भीड़ उनके संजयनगर स्थित घर में लगी रही, बिंदुखत्ता की बसासत से लेकर अब तक यही पले बड़े प्रहलाद मेहरा और उनके परिवार से क्षेत्र वासियों का अत्यधिक लगाव है। उनका परिवार क्षेत्र के तमाम सामाजिक एवं धार्मिक कार्यक्रमों में प्रमुखता से शामिल रहते हैं। पुत्र नीरज मेहरा ने वर्ष 2016 में हल्द्वानी एमबीपीजी छात्रसंघ के अध्यक्ष पद पर जबरदस्त जीत हासिल की थी, उनका पूरा परिवार मिलनसार एवं मृदभाषी है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंडः यहाँ घरवालों से नाराज होकर निकली युवती बाहर, महिला ने झांसा देकर कराया जिस्मफरोशी का धंधा, मां सहित बेटा व बेटी गिरफ्तार।

प्रहलाद मेहरा के छोटे भाई मनोहर मेहरा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में वरिष्ठ स्वयंसेवक हैं, तथा वह सरस्वती शिशु मंदिर से लेकर अन्य कई शैक्षिक शिक्षण संस्थानों में अपनी सेवाएं देते रहते हैं, जबकि प्रहलाद मेहरा क्षेत्र की सांस्कृतिक धरोहर को सजाने और संवारने का कार्य करते हैं, उन्होंने बिंदुखत्ता क्षेत्र के कई युवाओं को रंगमंच के क्षेत्र में अच्छे मुकाम तक पहुंचाया।

यह भी पढ़ें 👉  राशिफल- आज इन राशि वालों के लिए रहेगा शुभ रहेगा दिन, जानिए बाकी राशियों का हाल, पढ़े आज का राशिफल

गुरुवार की प्रातः 8 बजे गमगीन माहौल में उनके घर से शवयात्रा निकाली गई। जो कि चित्रशिला घाट रानीबाग में पहुंची और वहां उनके पुत्र मनीष, नीरज और कमल ने मुखाग्नि दी। इस अवसर पर महाराष्ट्र के पूर्व राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी, क्षेत्रीय विधायक डॉ मोहन बिष्ट, विधायक सुरेश गड़िया, पूर्व मंत्री एवं विधायक बलवंत सिंह भोर्याल, पूर्व कैबिनेट मंत्री हरीश चंद्र दुर्गापाल शंकर कोरंगा, हरेंद्र बोरा, पुष्कर दानू, अर्पित बिसौती, प्रमोद कॉलोनी और नितिन पंत सहित हजारों की संख्या में ग्रामीण एवं गणमान्य लोग मौजूद थे।

यह भी पढ़ें 👉  लालकुआँ- यहाँ विशालकाय भालू घुसने से मचा हड़कंप, देखे वीडियो

वही क्षेत्रवासियों ने अपने बीच के प्रहलाद दा को अश्रु पूर्ण नेत्रों से अंतिम विदाई दी।