उत्तराखण्डक्राइमगढ़वाल,

उत्तराखंड- सगाई, शक और हत्‍या… पढ़ें… प्‍यार के खौफनाक अंजाम की कहानी, जिसमें मंगेतर ही बन गया हत्‍यारा

  • खेलड़ी गांव निवासी युवती का शाहमंशूर के जंगल में मिला था शव

खेलड़ी गांव निवासी युवती की हत्या शाहमंशूर के जंगल में उसके ही मंगेतर ने दुपट्टे से गला दबाकर की थी। हत्या के बाद आरोपित शव को जंगल में फेंककर फरार हो गया था। मंगेतर ने अवैध संबंध के शक में युवती की हत्या की थी। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर पूरे मामले का पटाक्षेप किया है।

 

बुग्गावाला थाना पुलिस को 15 मई को शाहमंशूर के जंगल से एक युवती का क्षत-विक्षत शव बरामद हुआ था। पुलिस ने दो दिन बाद युवती की शिनाख्त शौकीना निवासी खेलडी थाना भगवानपुर के रूप में की थी। पुलिस ने जांच की तो पता चला कि 13 अप्रैल को युवती सहेली के घर जाने की बात कहकर घर से निकली थी, लेकिन इसके बाद वह घर नहीं आई।

यह भी पढ़ें 👉  यहाँ ट्रक और बाइक की जबरदस्त भिड़ंत में बाइक के उड़े परखच्चे, युवक की दर्दनाक़ मौत, एक घायल

 

पुलिस ने छानबीन की तो पता चला कि युवती का रिश्ता गांव के ही शहराज से तय हुआ था। दोनों के बीच पहले से प्रेम संबंध थे। पुलिस ने युवती के फोन की काल डिटेल के आधार पर छानबीन की तो पता चला कि लापता होने के दिन वह अपने मंगेतर के साथ देखी गई थी।

 

इसके बाद पुलिस ने मंगेतर शहराज को हिरासत में ले लिया। पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो उसने पुलिस के सामने सच उगल दिया। मंगेतर ने बताया कि उसे शक था कि उसकी मंगेतर शौकीना का किसी युवक से अवैध संबंध है। इसे लेकर वह काफी तनाव में था। इसके चलते ही वह शौकीना को अपने साथ शाहमंशूर के जंगल में ले गया था।

 

आरोपित ने जंगल में युवती के दुपट्टे से गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। हत्या के बाद उसने शव को दफनाने का प्रयास किया था, लेकिन जल्दबाजी में वह शव को ठीक तरह से नहीं दफना पाया था। पुलिस ने उसकी निशानदेही पर नवादा गांव के पास से युवती के मोबाइल के कुछ पार्ट्स बरामद किए। पुलिस ने आरोपित को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड (देहरादून) - मुख्य सचिव एसएस संधू ने चमोली की घटना का लिया संज्ञान सभी अपर सचिव व प्रमुख सचिवों को दिए निर्देश

 

शौकीना की हत्या करने के बाद आरोपित ने खुद को बचाने के लिए पुलिस को गुमराह किया था। आरोपित ने हत्या के बाद युवती के मोबाइल से अपने मोबाइल पर मैसेज भेजा था। इसमें लिखा था कि वह उसकी दुनिया से दूर जा रही है। उसने मैसेज इस तरह से भेजा था कि पुलिस को लगे कि किसी वजह से उसने आत्महत्या की है। हत्या के बाद उसने मोबाइल तोड़कर नवादा गांव के पास नाले में फेंक दिया था।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून - उत्तराखण्ड सचिवालय संघ के प्रतिनिधियों ने सीएम धामी से भेंट कर कार्मिकों की मांगों के संबंध में उन्हें कराया अवगत, सीएम धामी ने जताई सहमति

 

आरोपित ने हत्या के बाद शव को मिट्टी के नीचे दबाने का प्रयास किया था, लेकिन वह पूरी तरह से सफल नहीं हो पाया। मिट्टी से शव का कुछ हिस्सा बाहर आ गया था। इसके चलते शव बरामद हो गया। शव बरामद नहीं होता तो युवती की हत्या का मामला गुमशुदगी बनकर रह जाता।

 

भगवानपुर थाना प्रभारी निरीक्षक सूर्यभूषण नेगी ने बताया कि आरोपित ने पुलिस को बताया कि युवती के किसी से अवैध संबंध थे। उस युवक के साथ किसी ने उसके आपत्तिजनक फोटो भी दिखाए थे। इसके चलते उसने युवती से शादी से मना कर दिया था, लेकिन शादी से इन्कार करने पर वह झूठे मुकदमे में जेल भिजवाने का दबाव बना रही थी। इसके चलते उसने यह कदम उठाया।