उत्तराखण्डकुमाऊं,

उत्तराखण्ड- मानसून के पहले सप्ताह में ही कुमाऊं में सात जिंदगियां खत्म, अभी भी किशोरी और दो युवक लापता

पहले वनाग्नि कुमाऊं के लिए बनी काल। अब बारिश ने काल बनकर कुमाऊं में बरपाया कहर। मानसून के पहले सप्ताह में ही कुमाऊं में सात जिंदगियां खत्म हो गईं हैं, जबकि किशोरी और दो युवक लापता हैं।

काशीपुर के गांव जोशीमझरा में शंकर सिंह का बेटा वंश मंगलवार की सुबह अपने साथियों के साथ मवेशियों को चराने गया था। खेल खेल में उसका पैर फिसल गया, जिससे उसकी जान चली गई। वह दसवीं में पढ़ता था। वही सोमवार को बही बनबसा के देवीपुरा गांव निवासी सुशीला चंद उम्र 13 वर्ष का शव जगबूड़ा नदी में मंगलवार को घटनास्थल से करीब डेढ़ किमी दूर मिला।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहाँ दोस्त ने दोस्त पर कुल्हाड़ी से ताबड़तोड़ वार कर उतारा मौत के घाट, आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

 

वहीं अपने दो साथियों के साथ रविवार को मछली मारने धौरा जलाशय गए जगदीश मंडल का शव तीन दिन बाद एसडीआरएफ और गोताखोरों की टीम ने बरामद कर लिया।

 

सोमवार को एक परिवार को बचाने गए खटीमा के हल्दी निवासी सनी और प्रिंस की मौत हो गई थी, जबकि इसी सप्ताह मां की गोद से गिरकर पानी में डूबने से मासूम कपिल की जान चली गई थी। वहीं, बनबसा में भी इसी सप्ताह हुड्डी नदी में डूबने से महिला की मौत हो गई थी।

यह भी पढ़ें 👉  अज्ञात कारणों से महिला ने खाया जहर, हालत गंभीर

 

वही सोमवार को खेत में हुए कटाव को देखते समय जमीन खिसकने से बैगुल नदी में बहे संजीत का अब तक पता नहीं चल सका है। वहीं, शांतिपुरी में मंगलवार को 15 साल की किशोरी बह गई। खबर लिखी जाने तक उसका कुछ पता नहीं चल पाया था। इधर, धारी ब्लॉक के पदमपुरी मार्ग पर स्थित बमेटा गांव के पुल से लगे गधेरे में मंगलवार की शाम नहाते समय फौजी हिमांशु दफौटिया उम्र 25 वर्ष पुत्र पुष्कर दफौटिया निवासी बागेश्वर हाल निवासी कुसुमखेड़ा हल्द्वानी तेज बहाव में डूब गया, उसका कुछ पता नहीं चल पाया था।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून- (बड़ी खबर) सीएम धामी बोले देवभूमि को 2025 तक ड्रग्स फ्री बनाने का लक्ष्य, इस अभियान को सबको मिलकर सफल बनाना है