उत्तराखण्डकुमाऊं,

उत्तराखंड- यहाँ मां से पांच हजार रुपये मांगने को लेकर भाइयों में हुई मारपीट, एक भाई की मौत, दूसरा मौके से फरार

काशीपुर में जुड़वा भाइयों में मारपीट में घायल एक भाई की मौत हो गई। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं आरोपी भाई फरार बताया जा रहा है। पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज जांच शुरू कर दी है।

 

मोेहल्ला लाहौरियान निवासी राहुल सागर पुत्र प्रेम सिंह सागर ने 112 पर सूचना दी कि मोहल्ला कानूनगोयान निवासी उसके भाई श्याम ने अपने जुड़वा भाई राम को मारपीट कर गंभीर रुप से घायल कर दिया। अस्पताल ले जाते समय उसकी मौत हो गई। सूचना पर एसएसआई सतीश शर्मा पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। परिजनों व आसपास लोगों से पूछताछ में पता चला कि दोनों जुड़वा भाई नशे के आदी हैं। वह लोग कोई कामकाज नहीं करते हैं।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहाँ फर्जी रजिस्ट्रेशन पर दो के खिलाफ FIR दर्ज, एसपी उत्तरकाशी ने की श्रद्धालुओं से ये जरूरी अपील

 

बुधवार श्याम (24) अपनी मां दयावती से पांच हजार रुपये की मांग कर रहा था। जब मां ने रुपये देने से मना कर दिया तब श्याम ने अपनी मां और भाई राम के साथ मारपीट की। लोगों के अनुसार रातभर परिवार में झगड़ा और मारपीट होती रही। इसी बीच श्याम ने अपने भाई राम के सिर पर ईंट से वार कर दिया, जिससे वह लहूलुहान हो गया। परिजन घायलावस्था में राम को सरकारी अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टर ने परीक्षण कर उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया।

यह भी पढ़ें 👉  यहाँ शावक के साथ चहल कदमी करता दिखा गुलदार, खेतों में काम कर रहीं महिलाओं में मचा हड़कंप, क्षेत्र में डर का माहौल।

 

परिजनों के मुताबिक मृतक राम पांच भाई हैं। उनके पिता बीमार रहते हैं। दो भाई सूरज और राहुल वर्तमान में बाजपुर में रहते हैं। इनका एक घर मोहल्ला लाहौरियान में भी है। वहीं एक भाई अमित के बीते वर्ष एक सड़क हादसे में मौत हो गई थी। कोतवाली प्रभारी आशुतोष कुमार सिंह ने बताया तहरीर के आधार पर आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। फरार आरोपी की तलाश में संभावित ठिकानों पर उसको तलाश रही हैं।

यह भी पढ़ें 👉  (बड़ी खबर) फर्जी इंश्योरेंस कराने वालों पर बड़ी कार्रवाई की तैयारी

 

पुलिस करती रही पूछताछ, आरोपी मौके फरार

जुड़वा भाई के बीच हुई मारपीट में एक भाई की मौत के सूचना पर पहुंची पुलिस परिजनों व मोहल्लेवासियों से घटना के संबंध में जानकारी करती रही। बताया जा रहा है जब पुलिस घटना की जानकारी जुटा रही थी तो आरोपी वहीं मौजूद था। लोगों ने पुलिस को आरोपी के बारे में बताया। पुलिस जबतक कुछ कर पाती, तब तक आरोपी वहां से फरार हो गया।