उत्तराखण्डकुमाऊं,

हल्द्वानी गौलापार ट्रेंचिंग ग्राउंड के सामने खड़े सभी ट्रकों और बुग्गी को तत्काल हटाने के RTO ने दिये निर्देश, नही तो होंगे जप्त

  • हल्द्वानी गौलापार ट्रेंचिंग ग्राउंड के सामने खड़े सभी ट्रकों और बुग्गी को तत्काल हटाने के RTO के निर्देश, होगी जप्ती की कार्रवाई-देखे आदेश

हल्द्वानी गौलापार ट्रेंचिंग ग्राउंड के सामने खड़े सभी ट्रकों और बुग्गी को तत्काल हटाने के निर्देश परिवहन विभाग ने जारी किया है नहीं हटाने की स्थिति में सभी वाहनों को जप्ती की कार्यवाही की जाएगी। संभागीय परिवहन अधिकारी हल्द्वानी संदीप सैनी ने बताया कि ट्रेंचिंग ग्राउंड गौला पार के सामने परिवहन विभाग की भूमि है जिस पर परिवहन विभाग के कार्यालय ऑटोमेटिक ड्राइविंग स्कूल के साथ-साथ अन्य निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया है ऐसे में जिन लोगों ने उत्कत भूमि पर अपने ट्रक अन्य वाहन घोड़ा बुग्गी खड़ा किया है, वह वहां से उसे तत्काल हटा ले। उन्होंने निर्देश जरी किया है कि 30 मई तक जो भी वाहन स्वामी अपने वाहनों को वहां से नहीं हटाते हैं तो उनके वाहनों की जप्ती की कार्यवाही की जाएगी।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी/ लालकुआँ- जिला प्रशासन व निकाय की टीम द्वारा आवारा पशुओं को पकड़ने का कार्य शुरू, स्वामियों के खिलाफ भी कार्यवाही

 

उत्तराखंड परिवहन विभाग को कुमाऊं मंडल का पहला ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल जल्द मिलने जा रहा है। हल्द्वानी  के गौलापार में 36 करोड़ रुपये की लागत से नया आरटीओ कार्यालय और ऑटोमेटिक ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल का निर्माण कार्य शुरू हो गया है, करीब 36 करोड़ के लागत से हल्द्वानी के गौलापार में ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल के साथ-साथ संभागीय परिवहन विभाग का कार्यालय बना है। उन्होंने बताया कि ट्रेनिंग स्कूल में ऑटोमेटेड ड्राइविंग टेस्टिंग ट्रैक भी बनाया करीब 22 करोड़ की लागत से ड्राइविंग स्कूल के साथ-साथ ऑटोमेटिक ड्राइविंग ट्रैक भी बनाए जाने हैं। इसके अलावा करीब 14 करोड़ की लागत से संभागीय परिवहन विभाग का कार्यालय भी बना है।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून -(बड़ी खबर) मुख्य प्रशासनिक अधिकारी पद को अब राजपत्रित अधिकारी की प्रतिष्ठा प्रदान होगी, आदेश जारी

 

शहर की आबादी के कारण अब हल्द्वानी का आरटीओ कार्यालय छोटा हो गया है। यहां वाहनों की टेस्टिंग के लिए भी पर्याप्त जगह नहीं है। जिसको देखते हुए पूर्व में शासन के इसकी अनुमति मांगी गई थी कुमाऊं मंडल का यह पहला परिवहन विभाग का अपना ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल होगा, जो पूरी तरह से हॉस्टल फैसिलिटी से युक्त होगा। यहां ड्राइविंग ट्रेनिंग लेने वाले रहकर ट्रेनिंग ले सकेंगे।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी- यहाँ बैंक में नकली सोना रखकर लिया लाखों का लोन, सुनार के साथ रचा षड्यंत्र, शाखा प्रबंधक ने नौ लोगों पर कराया मुकदमा दर्ज