उत्तराखण्डस्वास्थ्य

हेल्थ- सही तरीके से पाचन न होना सेहत के लिए हो सकता है खतरनाक, इन बातों का रखें विशेष ध्यान

प्रतिदिन लिए जा रहे आहार का अगर सही से पाचन नहीं हो रहा है तो यह सेहत के लिए खतरनाक है। अधिकतर बीमारियां गलत खानपान से ही जुड़ी हैं। भोजन वही लेना चाहिए जो आसानी से पचाया जा सके। सुशीला तिवारी अस्पताल में पाचन की समस्याओं से जुड़े हर रोज 50 मरीज पहुंच रहे हैं।

 

मेडिसिन विभाग के एचओडी और विशेषज्ञ डॉ. एचसी जोशी के अनुसार लंबे समय तक पाचन क्रिया सही नहीं होने से आंतों की गंभीर समस्या हो सकती है। पिछले तीन-चार वर्षों में छोटी और बड़ी आंत की बीमारी बढ़ने के मामले आने लगे हैं। वर्ष में करीब 60 ऐसे मामले आ चुके हैं। इसमें आंतों में सूजन, घाव और मल में खून आना शुरू हो जाता है। इसका इलाज समय पर न हो तो यह कैंसर का रूप ले सकता है। यह लाइलाज नहीं है। समय पर जांच और खानपान में सुधार से स्वस्थ हुआ जा सकता है।
इन बातों का रखें ध्यान

  • अच्छी नींद लें और तनाव से दूर रहें।
  • अनावश्यक एंटीबायोटिक का प्रयोग न करें।
  • हरी सब्जियों, सलाद का उपयोग और दिनभर साफ पानी पीयें।
  • प्रतिदन व्यायाम करें।
यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड देवभूमि के लाल प्रणय नेगी के शहीद होने की खबर से क्षेत्र में शोक की लहर

 

लंबे समय तक डिब्बा बंद खाद्य पदार्थ का सेवन कैंसर को दावत 

डॉ. सुभाष के अनुसार डिब्बा बंद खाद्य पदार्थों में शुगर की मात्रा अधिक होती है। यह फैटी लीवर को बढ़ाता है। चाट, चिकन, मटन और घी का ज्यादा सेवन पेट में समस्या उत्पन्न कर सकता है। इसमें सबसे ज्यादा घातक रेड मीट है। इससे आंत और पेट के कैंसर की संभावना रहती है। हालांकि मछली नुकसानदायक नहीं है। इसमें फैट की मात्रा बहुत कम होती है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहां बाइक सवार युवक की सड़क हादसे में हुई मौत, धनतेरस की खरीदारी करने को निकाला था युवक