उत्तराखण्डगढ़वाल,

उत्तराखंड के इस जिले में आज गरजेगा बुलडोजर, कुल 524 अतिक्रमण किए गए चिह्नित

देहरादून न्यूज़- रिस्पना नदी के किनारे वर्ष 2016 के बाद किए गए निर्माण को ध्वस्त करने के लिए एमडीडीए आज से कार्रवाई शुरू करने जा रहा है। आपत्तियों के निस्तारण के बाद शेष 250 अवैध निर्माण का ध्वस्तीकरण आज से शुरू होगा। एमडीडीए की टीम भारी पुलिस बल की मौजूदगी में सुबह 10 बजे से काठबंगला बस्ती से कार्रवाई होगी। एमडीडीए को आगामी 30 जून तक कार्रवाई कर एनजीटी के समक्ष रिपोर्ट प्रस्तुत करनी है।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल- यहाँ नहाने के दौरान नाले में डूबने से किशोरी की हुई मौत, परिजनों में मचा कोहराम

 

एनजीटी के निर्देश पर रिस्पना के किनारे वर्ष 2016 के बाद किए गए निर्माण के सर्वे में कुल 524 अतिक्रमण चिह्नित किए गए थे। 89 अतिक्रमण नगर निगम की भूमि पर, जबकि 12 नगर पालिका मसूरी और 11 राजस्व भूमि पर पाए गए।

 

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहाँ चलती गाड़ी के ऊपर गिरा भारी भरकम पेड़, कार सवार सुरक्षित

दूसरी तरफ नगर निगम के नियंत्रण में रिवर फ्रंट डेवलपमेंट प्रोजेक्ट के लिए जिस भूमि को एमडीडीए के नियंत्रण में दिया गया था, उस पर 412 से अधिक अतिक्रमण होने की बात सामने आई है। करीब एक माह पूर्व नगर निगम ने आपत्तियों की सुनवाई के बाद 74 अतिक्रमण की अंतिम सूची तैयार की थी।

 

संशोधन के बाद चूना भट्ठा, दीपनगर और बार्डीगार्ड बस्ती में कुल 64 निर्माण ध्वस्त किए गए। जबकि, एमडीडीए की ओर से रिवर फ्रंट की जमीनों पर किए गए कब्जों को लेकर नोटिस तो काफी पहले भेज दिए गए थे, लेकिन आपत्तियों की जांच की जा रही थी। अब परीक्षण के बाद एमडीडीए की भूमि पर चिह्नित 250 अवैध निर्माण ही सूची में शेष हैं।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- एक और भ्रष्टाचारी अधिकारी को विजिलेंस की टीम ने 15000 की रिश्वत लेते रंगे हाथों किया गिरफ्तार