उत्तराखण्डकुमाऊं,

नैनीताल- कैंची धाम मेले की तैयारियां शुरू, कैंची धाम में श्रद्धालुओं के लिए पहली बार हेलीकॉप्टर सेवा, ड्रोन और CCTV से की जाएगी मेला की निगरानी

नैनीताल न्यूज़-  बाबा नीब करौरी के धाम कैंची में 15 जून को स्थापना दिवस पर आने वाले श्रद्धालुओं को कोई परेशानी न हो, इसे लेकर प्रशासन व्यवस्थाएं दुरुस्त करने में जुटा है। पहली बार श्रद्धालुओं के लिए हेलीकाप्टर सेवा रहेगी।

 

यदि किसी श्रद्धालु की तबीयत बिगड़ती है तो पहले स्थानीय स्तर पर प्राथमिक उपचार होगा। उसके बाद हायर सेंटर ले जाने के लिए हेलीकाप्टर का प्रयोग किया जाएगा। इसके लिए नागरिक उड्डयन विभाग से हेली सेवा मांगी गई है और साथ ही पूरे मेला क्षेत्र की ड्रोन व सीसीटीवी से निगरानी की जाएगी। सफाई दुरुस्त रखने को भवाली से कैंची तक हर सौ मीटर में पर्यावरण मित्र रहेंगे।

 

सोमवार को नैनीताल क्लब में कुमाऊं आयुक्त दीपक रावत ने अधिकारियों की बैठक ली। कहा कि हेली सेवा केवल गंभीर स्थिति में ही प्रयोग होगी। भवाली और गरमपानी से शटल सेवा के लिए करीब 100 से अधिक बसों व 500 छोटे वाहनों की व्यवस्था की गई है। भवाली की पार्किंग फुल होने की स्थिति पर भीमताल, हल्द्वानी से शटल सेवा चलेगी।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल - यहां हरियाणा के बुजुर्ग दंपति ने मनाई शादी की सालगिरह, रात में मनाई पार्टी, सुबह मृत मिला पति, पढ़ें पूरी खबर।

 

एसएसपी पीएन मीणा ने बताया कि पार्किंग स्थलों को 10 जोन में बांटा गया है। मंदिर परिसर में 100 मीटर में बैरीकेड लगाए गए हैं। बैठक में डीआइजी डा. योगेंद्र रावत, अपर आयुक्त जीवन सिंह नागन्याल, एडीएम शिव चरण द्विवेदी, एसडीएम प्रमोद कुमार, जिला पंचायत के एएमएस पीएस बिष्ट, डा. वीके पुनेड़ा, भवाली के पूर्व पालिकाध्यक्ष संजय वर्मा, मंदिर ट्रस्ट के प्रदीप साह, ग्राम प्रधान पंकज निगल्टिया व एमपी सिंह सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

 

जानिए, कैसी रहेगी व्यवस्था

  • भवाली और गरमपानी में पार्किंग के लिए 14 स्थल चिह्नित। डेढ़ हजार से अधिक छोटे-बड़े वाहन पार्क होंगे।
  • भवाली, भीमताल, हल्द्वानी से आने वाले वाहन नैनी बैंड बाईपास, भवाली मैदान, रानीखेत रोड पर पार्क किए जाएंगे।
  • नैनीताल, ज्योलीकोट से आने वाले वाहनों के लिए मस्जिद तिराहा, सेनिटोरियम बाईपास में पार्किंग व्यवस्था।
  • रानीखेत और अल्मोड़ा की तरफ से आने वाले वाहनों के लिए गरमपानी में पार्किंग का इंतजाम।
  • हल्द्वानी से अल्मोड़ा, रानीखेत जाने या मैदान के लिए आने वाले वाहन वाया रामगढ-क्वारब से भेजे जाएंगे।
  • पिथौरागढ़ की ओर आने-जाने वाले वाहन वाया खुटानी, पदमपुरी मार्ग से भेजे जाएंगे।
  • मंदिर परिसर के आसपास फोटो-वीडियोग्राफी पर रोक
यह भी पढ़ें 👉  देहरादून -राज्य स्थापना दिवस के दिन रिलायंस ज्वैलरी शॉप में करोड़ों की लूटपाट करने के दो आरोपियों की तस्वीर हुई सार्वजनिक, रखा 2 लाख का इनाम

 

बैठक में कोश्यांकुटौली के एसडीएम बिपिन पंत ने बताया कि मंदिर परिसर के आसपास हार्न बजाने, प्लास्टिक का प्रयोग धूमपान, तम्बाकू, इंटरनेट मीडिया, फोटोग्राफी-वीडियोग्राफी, रील बनाने, कैंची धाम से भवाली के मध्य फड़ खोखा संचालन, कैंची धाम से भवाली के मध्य मार्ग किनारे विभिन्न संगठनों-आमजन की ओर से खाद्य एवं पेय पदार्थों का वितरण पर पूर्ण रूप से प्रतिबंधित रहेगा।

 

पार्किंग में कर सकते हैं खाद्य व पेय पदार्थ का वितरण

बैठक में अधिकारियों ने आयुक्त को बताया कि इस बार मार्गों में विभिन्न संगठनों-व्यक्तियों की ओर से निशुल्क खाद्य एवं पेय पदार्थों के वितरण पर पूर्ण रूप से प्रतिबंधित रहेगा। आयुक्त ने कहा कि ऐसे सामाजिक कार्यकर्ता-संगठन, जो निशुल्क खाद्य-पेय पदार्थों वितरण करना चाहते हैं, पार्किंग स्थल में वितरण कर सकते हैं। पार्किंग स्थल में भक्तों के खान-पान के लिए फूड वैन आदि के अलावा बिजली की उचित व्यवस्था करने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- (बड़ी खबर) उत्तराखंड में छात्रसंघ चुनाव की अधिसूचना हुई जारी, इस तारीख को होगा मतदान, आचार संहिता लागू

 

रोडवेज की ओर से 150 बसों का इंतजाम

2022 में कैंची धाम के स्थापना दिवस पर एक लाख, 2023 में एक लाख 25 हजार श्रद्धालु आए थे। जबकि सालभर हर वीकेंड पर 15 से 20 हजार भक्त यहां पहुंच रहे हैं। इस साल 15 जून को श्रद्धालुओं की संख्या में बड़ा इजाफा होने की उम्मीद की जा रही है। रोडवेज की ओर से अब तक करीब डेढ़ सौ बसों का इंतजाम किया गया है।