उत्तराखण्डकुमाऊं,

उत्तराखंड- बाबा तरसेम सिंह हत्याकांड में शामिल एक बदमाश पुलिस मुठभेड़ में हुआ ढेर, दूसरा आरोपी फरार

रुड़की न्यूज़- आज मंगलवार की सुबह इमली खेड़ा मार्ग पर पुलिस की बाइक सवार बदमाशों से मुठभेड़ हो गई, जिसमें 10 लाख रुपये की सुपारी लेकर नानकमत्ता डेरा कारसेवा प्रमुख तरसेम सिंह की हत्या करने वाला एक बदमाश मौके पर ढेर हो गया। जबकि दूसरा फरार हो गया। 

पुलिस ने दूसरे बदमाश की तलाश की, लेकिन उसका कोई सुराग नहीं मिल पाया। सूचना मिलने पर एसएसपी समेत अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली। पुलिस के मुताबिक, सोमवार की सुबह इमली खेड़ा मार्ग पर भगवानपुर थाना पुलिस की टीम एक ढाबे के पास चैकिंग कर रही थी। 

इसी दौरान पुलिस ने बाइक सवार दो लोगों को रोकने का प्रयास किया, लेकिन वह कलियर की तरफ भागने लगे। शक होने पर पुलिस ने इनका पीछा किया। पुलिस ने कुछ दूर जाने पर दोनों बदमाशों को घेर लिया तो बदमाशों ने पुलिस पर हमला कर दिया।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहाँ मंदिर परिसर में पुजारी और कर्मचारियों से भिड़े श्रद्धालु, जमकर चले लाठी डंडे, फिर सबने मिलकर ऐसे सिखाया सबक

पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की, जिसमें एक बदमाश गोली लगने से घायल हो गया। जबकि दूसरा जंगल के रास्ते फरार हो गया। पुलिस ने इसका पीछा भी किया लेकिन वह हाथ नहीं आया। घायल बदमाश को सिविल अस्पताल ले जाया गया, जहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

बदमाश की शिनाख्त अमरजीत सिंह उर्फ बिट्टू फतेहगढ़ चूड़ियां रोड नगली भट्ट अमृतसर के रूप में की गई। मुठभेड़ की सूचना के बाद एसपी परमेंद्र अग्रवाल मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली। मही मुठभेड़ की सूचना मिलने पर डीआईजी देहरादून से मौके के लिए रवाना हो गए हैं। 

यह भी पढ़ें 👉  लालकुआँ- रोजा इफ्तार पार्टी में की गई मुल्क में अमन चैन की दुआ

28 मार्च को बाइक सवार दो बदमाशों ने नानकमत्ता में डेरा कारसेवा प्रमुख तरसेम सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस दौरान सीसीटीवी में कैद हत्यारों की पहचान तरनतारण, पंजाब निवासी सर्वजीत सिंह और फतेहगंज, अमृतसर (पंजाब) निवासी अमरजीत उर्फ बिट्टू के रूप में हुई।

तब से पुलिस उनकी तलाश कर रही थी। दोनों पर एक-एक लाख का इनाम भी घोषित कर दिया था। मामले में अभी तक पुलिस हत्या की साजिश और राइफल उपलब्ध कराने वाले सात षड्यंत्रकारियों को गिरफ्तार कर चुकी है। इधर,दोनों शूटरों की अंतिम लोकेशन पुलिस को शाहजहांपुर के निगोही में मिली थी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड(बड़ी खबर) यहां पिता और पुत्र ने मिलकर नाबालिक की करी हत्या, पिता गिरफ्तार, पुत्र हुआ फरार।

इस बीच दोनों के अलग होने और नेपाल और बांग्लादेश भागने की भी आशंका जताई गई। सोमवार देर रात एक शूटर अमरजीत उर्फ बिट्टू की लोकेशन हरिद्वार में मिली तो एसटीएफ और पुलिस ने उसकी घेराबंदी कर दी। बताया जा रहा है कि उसने टीम पर फायरिंग की। पुलिस ने भी फायरिंग की, जिसमें वह मारा गया।