उत्तराखण्डगढ़वाल,

उत्तराखंड- लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को लगा एक और झटका, पूर्व विधायक विजयपाल सजवाण ने पार्टी की सदस्यता से दिया इस्तीफा

देहरादून न्यूज़– लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लागू होने से एक दिन पहले कांग्रेस को एक और झटका लगा है। उत्तरकाशी के पूर्व विधायक विजयपाल सिंह सजवाण ने शुक्रवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया है।

विजयपाल सजवाण दो बार कांग्रेस के टिकट पर उत्तरकाशी से विधायक रह चुके हैं। इसके बाद 2017 और 2022 का चुनाव भी उन्होंने कांग्रेस के टिकट पर लड़ा, लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिल पाई। उनके लंबे समय से कांग्रेस छोड़कर भाजपा में जाने की चर्चाएं चल रही थी। अब आचार संहिता लागू होने से ठीक एक दिन पहले उन्होंने कांग्रेस से किनारा कर दिया है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी -(बड़ी खबर) यहाँ युवक का अपहरण कर बेलबाबा के जंगल में हाथ-पैर बांध कर फेंका

शुक्रवार को प्रेदश अध्यक्ष को सौंपे पत्र में उन्होंने निजी कारणों से पार्टी की प्राथमिक सदस्यता सहित सभी से इस्तीफा देने की घोषणा की है। सजवाण शनिवार को भाजपा में शामिल हो सकते हैं। हालांकि इस्तीफा के बाद वह किसी का फोन नहीं उठा रहे हैं। इस कारण उनका पक्ष नहीं मिल पाया है। सूत्रों के अनुसार उनके साथ कुछ अन्य नेता भी भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें 👉  (भूतपूर्व सैनिकों के लिए नौकरी का अवसर) 31 जनवरी से 31 दिसंबर 2022 तक सेवानिवृत्त हुए पूर्व सैनिक रानीखेत में भर्ती मेले में ले सकते हैं हिस्सा

विजयपाल सजवाण की कांग्रेस से विदाई की चर्चा काफी दिनों से चल रही थी। दूसरी तरफ एक गुट उन्हें चुनाव लड़ने की भी पैरवी भी कर रहा था। अब पार्टी प्रत्याशी घोषित होने के तीन दिन बाद ही उन्होंने कांग्रेस को झटका दे दिया। इससे पहले मनीष खंडूरी का नाम भी प्रत्याशी पैनल में शामिल थे। लेकिन वो प्रत्याशी घोषित होने से पहले ही पाला बदल गए।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहाँ गजब का गौ तस्कर, सेंट्रो कार में गाय को एडजस्ट कर गाय की कर रहा था तस्करी, पुलिस ने गिरफ्तार कर भेजा जेल

इन दोनों से पहले कांग्रेस से पूर्व विधायक सुरेंद्र रावत, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष प्रकाश चंद रमोला, ब्लॉक प्रमुख रजनी रावत, महेंद्र राणा, ओबीसी आयोग के पूर्व अध्यक्ष अशोक वर्मा, मीडिया प्रभारी पीके अग्रवाल, पछुवादून जिला अध्यक्ष लक्ष्मी अग्रवाल भी कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हो चुके हैं।