उत्तराखण्डकुमाऊं,

नैनीताल- नैनीताल में संदिग्ध परिस्थितियों में युवती के गायब होने से मचा हड़कंप, ग्रामीणों ने कहा-तेंदुआ उठा ले गया, वन विभाग ने शुरू की छात्रा की तलाश

नैनीताल न्यूज़- नैनीताल से करीब 21 किलोमीटर दूर स्थित तल्ला बगड़ के तोला गांव में एक युवती शुक्रवार की शाम संदिग्ध परिस्थितियों में गायब हो गई। ग्रामीणों ने कहा कि युवती को तेंदुआ उठा ले गया। वन विभाग समेत ग्रामीणों ने देर रात तक जंगल में युवती की खोजबीन की मगर उसका पता नहीं लग पाया। ग्रामीणों ने जंगल में युवती के कपड़े और मोबाइल का कवर मिलने का भी दावा किया है।

गांव की सुमन मेहरा उम्र 22 वर्ष पुत्री गोधन सिंह मेहरा शुक्रवार को घर में अकेली थी। उसके माता-पिता किसी काम से सौड़ गए थे। बताया जा रहा है कि शुक्रवार शाम करीब साढ़े पांच बजे जब उसके माता-पिता घर पहुंचे तो सुमन नहीं दिखाई दी। खेत में बंधा कुत्ता घर पर मिला तो सुमन की मां की टेंशन बढ़ गई। वह खेत में गईं तो वहां सुमन का एक कपड़ा, चप्पल और फोन का कवर वहां पड़ा मिला। उनके शोर मचाने पर ग्रामीण पहुंच गए।

यह भी पढ़ें 👉  देहारादून- यहाँ ट्रैफिक जाम का कारण बन चुके ई-रिक्शा पर अब लगाम लगाने के लिए धामी सरकार ने उठाया ये बड़ा कदम, पढ़े पूरी खबर

उन्होंने कहा कि सुमन को तेंदुआ उठा ले गया है। इसके बाद वन विभाग को सूचना दी गई। वन क्षेत्राधिकारी प्रमोद तिवारी के नेतृत्व में 50 से ज्यादा कर्मचारियों और ग्रामीणों की टीम ने देर रात सर्च ऑपरेशन चलाया गया। टीम टार्च व ग्रामीण जलती मशालों के साथ जंगल में खोजबीन करती रही लेकिन सुमन का पता नहीं चल सका। ग्रामीणों ने यह भी दावा किया कि खेत में तेंदुए या बाघ के पैरों के निशान दिखाई दे रहे हैं। इधर, सुमन का मोबाइल भी नहीं मिल सका है। मोबाइल स्विच ऑफ आ रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- यहाँ गंगा में नहाने के दौरान पत्थर पर पैर फिसलने से बहे हरियाणा के कृषि विभाग के संयुक्त निदेशक, रेक्सयू टीम तलाश में जुटी।

आशंका जताई जा रही है कि छात्रा के कमरे खोलने से पहले ही कोई हिंसक जानवर उसपर झपटा और उसे उठाकर ले गया। ग्रामीणों ने इसकी सूचना वन विभाग को दी और जंगल में उसे तलाशने पहुंचे। नैनीताल के डी.एफ.ओ.ने अपने रेंज ऑफिसर की एक टीम बनाकर तत्काल क्षेत्र में भेजी।

यह भी पढ़ें 👉  ग्राफ़िक एरा हिल यूनिवर्सिटी प्रीमियर लीग का आयोजन, रैंपेज ने जीता फाइनल

उन्होंने कहा कि अभीतक हिंसक जानवर की पुष्टि नहीं हुई है और छात्रा के कपड़ों के अलावा खून के कोई दाग नहीं मिले हैं। अंधेरा होने के कारण अभियान को कल तड़के सवेरे से दोबारा शुरू किया जाएगा। ये भी बताया गया है कि पिछले दिनों क्षेत्र के ही अधौड़ा के जंगल में एक मादा भालू को दो बच्चों के साथ ग्रामीणों ने कई बार देखा है।